comScore

छात्राओं के लिए मुसीबत बनी रात 8 बजे से लगाई गई एमएड ऑनलाइन क्लास

छात्राओं के लिए मुसीबत बनी रात 8 बजे से लगाई गई एमएड ऑनलाइन क्लास

डिजिटल डेस्क जबलपुर । एमएड तृतीय सेमेस्टर के छात्रों की ऑनलाइन क्लास सोमवार को रात 8 बजे से लगाई गई। इस क्लास से उन शिक्षिकाओं को सबसे ज्यादा परेशानियों का सामना करना पड़ा, जिन पर गृहिणी की भी जिम्मेदारी रहती है। ऐसा इसलिए, क्योंकि 8 से 9 बजे का वक्त अधिकतर उनका किचन में ही गुजरता है।
पता चला है कि शाम करीब 7 बजे राज्य विज्ञान संस्थान (पीएसएम परिसर) के एमएड तृतीय सेमेस्टर के छात्रों के मोबाइल पर भेजे गए व्हाट्स एप मैसेज में सूचना दी गई कि वरिष्ठ लेक्चरर डॉ. पीडी मिश्रा उनसे लैसन प्लान (पाठ योजना) और अन्य रिसर्च वर्क के बारे में चर्चा करना चाहते हैं। सभी छात्रों को इस ऑनलाइन क्लास में 8 बजे से अनिवार्य रूप से शामिल होना ही था। इसी वजह से घरों में मौजूद  महिला शिक्षिकाओं को किचन का काम छोड़कर मजबूरी में क्लास में शामिल होना पड़ा।
ऐसी भी क्या जरूरत थी रात में क्लास लगाने की? 8 एमएड तृतीय सेमेस्टर की कुछ महिला छात्राओं ने नाम न प्रकाशित करने की शर्त पर बताया कि अभी तक सारी ऑनलाइन क्लासें दिन में ही संचालित हुआ करती थीं। अब अचानक ऐसी क्या जरूरत आ गई, जो रात में क्लास लगानी पड़ी। इस क्लास के कारण उनके किचन के कामकाज बुरी तरह प्रभावित हुए और बच्चों को क्लास के बाद खाना परोसा गया।
इनका कहना है
रात में 8 बजे छात्रों के साथ ऑनलाइन मीटिंग की गई, क्योंकि कुछ लैसन बनाकर उसकी प्रगति की जानकारी राज्य शिक्षा केन्द्र को भेजना है, इसीलिए छात्रों को चैप्टर अलॉट किए गए। मीटिंग करीब सवा 9 बजे खत्म हुई।
- पीडी मिश्रा, वरिष्ठ लेक्चरर 
 

कमेंट करें
SlV7k