दैनिक भास्कर हिंदी: रेत का गोरखधंधा: 150 ट्राली रेत जब्त, उमड़ार नदी में अवैध खनन

December 14th, 2018

डिजिटल डेस्क, कटनी। रेत माफिया रेत का गोरखधंधा बेखौफ कर रहे हैं। माइनिंग विभाग ने उमड़ार नदी में अवैध रेत का खनन करने वाले माफियाओं के खिलाफ कार्रवाई करते हुए 150 ट्राली अवैध रेत को जब्त किया है। विभाग की इस कार्रवाई से रेत का अवैध खनन करने वालों में हड़कंप रहा।

सीमा को लेकर हुआ विवाद, हरकत में आया प्रशासन
बताया जाता है बरही थाना क्षेत्र के छिंदहाई पिपरिया-कुम्हरवारा में उमड़ार नदी में रेत का अवैध खनन किया जा रहा है। ग्राम पंचायत छिंदहाई पिपरिया व ग्राम पंचायत कुम्हरवारा के बीच रेत खनन को लेकर हुए विवाद ने प्रशासनिक अमले को कार्रवाई करने पर विवश कर दिया। छिंदहाई पिपरिया के सचिव अजय पांडेय ने बताया कि उनके पंचायत की सीमा में कुम्हरवारा के लोगों द्वारा अवैध रूप से रेत का खनन किया जाता है, जिसमें रूपलाल पटेल व भोलू पटेल द्वारा सक्रिय भूमिका रही।

शिकायत पर पहुंचा प्रशासन
रेत उत्खनन करने से मना करने पर रेत माफियाओं द्वारा विवाद किया गया, जिसके बाद ग्राम पंचायत छिंदहाई पिपरिया के सचिव अजय पांडेय व सरपंच सुखलाल भुमिया ने थाना बरही, माईनिंग व कलेक्टर से शिकायत की थी। शिकायत के बाद थाना प्रभारी इंद्रेश त्रिपाठी ने पुलिस कर्मियों के साथ मौके पर पहुंचकर अवैध रेत से लोड दो ट्रेक्टर जब्त किए गए और प्रकरण दर्ज किया।

भाग गए रेत माफिया
सचिव ने बताया कि रेत माफियाओं द्वारा रेत उत्खनन कर भारी मात्रा में स्टॉक किया गया गया था और उसी भंडार से बिना पिट पास के रेत सप्लाई करने का सिलसिला जारी किया जाता है। शिकायत मिलने पर माइनिंग विभाग ने जाकर दबिश दी थी, जिन्हें देखकर रेत माफिया भाग खड़े हुए, लेकिन माइनिंग के अमले ने 150 ट्राली रेत जब्त कर प्रकरण तैयार किया। रेत का भंडारण किसने किया था इसकी पुष्टि नहीं हो पाई है।

इनका कहना है
छिंदहाई पिपरिया के समीप उमड़ार नदी से रेत का अवैध खनन होने की शिकायत मिली थी जिसके बाद खनिज निरीक्षक सतीश मिश्रा सहित अन्य अमले को भेजा गया था। मौके से 150 ट्राली रेत जब्त की गई है।
-दीपमाला तिवारी, खनिज अधिकारी

खबरें और भी हैं...