comScore

 95 का मस्टररोल, मौके पर काम कर रहे पांच मजदूर - मनरेगा में बड़ा खेल

 95 का मस्टररोल, मौके पर काम कर रहे पांच मजदूर - मनरेगा में बड़ा खेल

डिजिटल डेस्क बाकल/ कटनी। महात्मा गांधी रोजगार गारंटी योजना के रोजगार सहायकों की हड़ताल के चलते ग्राम पंचायतों में निर्माण कार्य भले ही प्रभावित हो रहे हैं पर शासन के रिकार्ड में सैकड़ों मजदूरों को रोजगार दिया जा रहा है। जबकि मौके पर 5-10 मजदूर ही काम कर रहे हैं। जनपद पंचायत से सैकड़ों मस्टर रोल जारी हो गए पर इनके बारे में संबंधित ग्राम पंचायतों के सरपंच/ सचिवों को ही पता नहीं है। यह स्थिति जनपद पंचायत बहोरीबंद की ग्राम पंचायतों की है। एक ओर बहोरीबंद क्षेत्र से मजदूरों का पलायन हो रहा है वहीं दूसरी ओर मनरेगा के रिकार्ड में इस सप्ताह 79 ग्राम पंचायतों में 2980 मजदूरों को काम दिया रहा है। 
यह है ग्राम पंचायतों की कहानी-
ग्राम पंचायत के ऑनलाइन रिकार्ड के अनुसार अमाडी में 108, बडख़ेरा नीम में 97, इमलिया में 135, खम्हरिया में 165ए मसन्धा में 130, पथराड़ी पिपरिया में 195, कुम्हारवारा में 97,  राम पाटन में 77 इसके अलावा बरतरा, मझगवां, पाकर, पटोरी, बासन, किवलरहा  में भी लेबर विगत दो दिन पूर्व  काम पर लगी नजर आ रही थी लेकिन वास्तविकता में मौके पर कही 10  तो 5 लेबर तो कही ज्यादा से ज्यादा 20 मजदूर काम करते नजर आ रहे हैं। नजर आई लेकिन ऑनलाइन रिकार्ड में सचिवों द्वारा वाहवाही लूटने एवं हड़ताल के बाबजूद ग्राम पंचायतों में काम दर्शाने के उद्देश्य से मनचाही लेबर दर्शायी जा रही है  व जनपद में अधिकारी कार्यों के निरीक्षण की बजाय कुर्सियों पर आराम फरमा रहे हैं।
सरपंच, सचिव ने जताई अनभिज्ञता
मस्टररोल जारी होने एवं मजदूरों के काम को लेकर सरपंच, सचिवों ने भी अनभिज्ञता जाहिर की है। ग्राम पंचायत खम्हरिया में सामुदायिक भवन की बाउंड्रीवाल में मंगलवार को मात्र पांच मजदूर काम कर रहे थे, जबकि इस ग्राम पंचायत में 90 मजूदरों का मस्टर रोल जारी हुआ है, सचिव नारायण प्रसाद को नहीं पता कि कितने मजदूरों का मस्टररोल जारी हुआ है। ग्राम पंचायत कुम्हरवारा में केवल प्रधानमंत्री आवास का काम चल रहा है, जिसमें 8-10 मजदूूर काम कर रहे हैं, लेकिन कंटूर टें्रच के कार्य के लिए 97 मजदूरों का मस्टररोल जारी हुआ है। सचिव भागचंद  के अनुसार उन्हे सोमवार को ही आईडी पासवर्ड मिला है। कंटूर ट्रेेंच के कार्य की उन्हे जानकारी नहीं है।   
इनका कहना है-
ग्राम पंचायतों को जारी हुए मस्टर रोल में दर्ज मजदूरों के कार्य करने की स्थिति का सही आंकलन भुगतान के बाद होगा, पिछले मस्टर रोल में 90 प्रतिशत भुगतान हुआ है। इस सप्ताह जारी हुए मस्टररोल के भुगतान के बाद स्थिति स्पष्ट होगी। रोजगार सहायकों की हड़ताल से 50 प्रतिशत कार्य प्रभावित हुआ है लेकिन उनकी हड़ताल को सफल दिखाने के लिए कम मजदूरों के काम करने के शिगूफे छोड़े जा रहे हैं।
जगदीश गोमे जिला पंचायत सीईओ कटनी
 

कमेंट करें
pHMCf