दैनिक भास्कर हिंदी: नागपुर : छिंदवाड़ा से आने वाली ट्रेन इतवारी स्टेशन तक ही आएगी

October 26th, 2019

डिजिटल डेस्क, नागपुर। पिछले कई वर्षों से छिंदवाड़ा से नागपुर तक चलने वाली ट्रेन का इंतजार किया जा रहा है। इन दिनों लगातार बैठक और अधिकारियों के दौरे के बाद यह तय हुआ है कि नवंबर के दूसरे सप्ताह में सीआरएस और दिसंबर तक यह ट्रेन छिदंवाड़ा से नागपुर तक चलना शुरू हो जाएगी। लेकिन इस ट्रेन को लेकर जहां लोगों को राहत है, तो वहीं इस बात को लेकर परेशानी हो सकती है कि रेलवे विभाग इस ट्रेन को नागपुर स्टेशन के बजाए इतवारी स्टेशन ले जाने की तैयारी कर रहा है। यानी छिंदवाड़ा से चलकर नागपुर जाने वाली इस ट्रेन में सफर करने वाले यात्रियों को तकरीबन पांच किलोमीटर पहले इतवारी स्टेशन में उतरना होगा।  यहां बताया जा रहा है कि पैसेंजर ट्रेन और बिलासपुर रूट से आने वाली सभी ट्रेनों के इतवारी स्टेशन तक ही चलाया जा रहा है। दरअसल नागपुर के मुख्य स्टेशन में अधिक ट्रेनों की आवाजाही की वजह से यह निर्णय लिया जा रहा है। हालांकि इस मामले में फिलहाल चर्चा चल रही है, जहां ट्रेन शुरू होने के बाद इसे अमल में लाया जा सकता है, जो यात्रियों के लिए परेशानी का कारण बन सकता है।  इस मामले में एसईसीआरएमयू की ओर से मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपकर नागपुर टर्मिनल बनाए जाने की मांग रखी है। 

शुरुआत में ही हुआ विरोध 

छिंदवाड़ा से नागपुर तक चलने वाली ब्राडगेज ट्रेन को शुरू होने में फिलहाल समय है, लेकिन इस बीच इतवारी तक इसका स्टेशन रखने की बात को लेकर अभी से विरोध शुरू हो गया है। इसके लिए कुछ संगठन इसको लेकर विरोध दर्ज कराने की तैयारी में है। हालांकि अब तक अधिकृत घोषणा नहीं है हुई है लेकिन रेलवे अधिकारियों के अनुसार तकनीकी तौर पर इतवारी स्टेशन बनाया जाना तय माना जा रहा है। ऐसी स्थिति में यह मामला तूल पकड़ सकता है।

तो होगी परेशानी 

छिंदवाड़ा से नागपुर तक चलने वाली ट्रेन में अधिकतर यात्री इलाज के लिए आते हैं। ऐसी स्थिति में यदि यह ट्रेन इतवारी स्टेशन में जाकर रूक जाती है तो इन्हें पांच किलोमीटर तक ऑटों के जरिए खर्च करके जाना होगा। जिसके कारण अतिरिक्त राशि का खर्च के साथ विशेष तौर पर मरीजों को परेशानी जाएगी। 
दूसरी बड़ी परेशानी नागपुर से व्यापार के सिलसिले में जाने वाले व्यापारियों को होगी। मुख्य स्टेशन के बजाए व्यापारियों को भी इतवारी तक आना होगा।

खबरें और भी हैं...