comScore

मिट्टी का तेल डालकर नक्सलियों ने जला दिए तार, घटना से मचा हड़कंप

मिट्टी का तेल डालकर नक्सलियों ने जला दिए तार, घटना से मचा हड़कंप


डिजिटल डेस्क बालाघाट। जंगलों में नक्सलियों की घुसपैठ रोकने के लिए वन विभाग का अमला हर संभव प्रयास कर रहा है। वनों व ग्रामीणों की सुरक्षा को देखते हुए विभाग द्वारा फेंसिंग का कार्य किया जा रहा है, जिसके लिए बारवेट तार के बंडल बुलाए गए। नक्सलियों को जैसे ही इसकी भनक लगी उन्होंने समूह में पहुंचकर मिट्टी तेल डालकर बंडलों में आग लगा दी। घटना के बाद से पूरे क्षेत्र में हड़कंम मचा हुआ है।
जानकारी के अनुसार नक्सल प्रभावित  जिले के दक्षिण बैहर के ग्राम पंचायत दडकसा के ग्राम मुंडा मे वन विभाग द्वारा मजदूरों से जंगलों की सुरक्षा के लिये फेंसिंग के लिए  बारवेट तार के बंडलों को नक्सलियों ने आग के हवाले कर दिया और विभाग के द्वारा कराए जा रहे कार्यों को बंद करा दिया गया। जानकारी के अनुसार यह घटना गुरूवार की बताई जाती है। बताया जाता है कि वनों की सुरक्षा के लिये वनविभाग के द्वारा फेंसिंग हेतु बारवेट तार लगवाया जा रहा है और यह कार्य जिले के सभी वन क्षेत्रों में चल रहा है। जानकारी में बताया गया है कि सश़त्र नक्सली जिनमें कुछ महिलायें थी मुंडा गांव में जंगल के समीप डम्प कर रखे गये करीब 30 दर्जनो बारबेट के बंडलों में मिट्टी का तेल छिडककर आग के हवाले कर दिया जिसकी कीमत करीब 90 हजार बताई गई है।
मजदूरों को भगा दिया-
 कार्य करवा रहे मजदूरों को वहां से भगा दिया और घटना स्थल पर पर्चे भी छोडा गया था साथ ही साथ परिक्षेत्र सहायक के नाम नक्सलियों ने पत्र भी भिजवाया गया है। इस संदर्भ में वनविभाग के एसडीओ एम.एस. श्रीवास्तव ने बताया कि उन्हें इसकी जानकारी नहीं है, जबकि ग्राम पितकोना और मुंडा के ग्रामीणों ने इसकी पुष्टि की है। वनविभाग के द्वारा पुलिस को समाचार लिखे जाने तक सूचना नहीं दी है। गौरतलब है कि उसी मुंडा गांव में सशत्र नक्सलियों ने वन सुरक्षा समिति के अध्यक्ष ब्रजलाल पंद्रे की जुलाई माह में धारदार हथियार से हमला कर हत्या कर दी है, और उस क्षेत्र में नक्सलियों की निरंतर गतिविधियां बनी हुई है।

कमेंट करें
aqM9f