comScore

111 करोड़ के बैंक घोटाले में तत्कालीन एमडी को जमानत नहीं

111 करोड़ के बैंक घोटाले में तत्कालीन एमडी को जमानत नहीं

ईओडब्ल्यू की आपत्ति पर गौर करके हाईकोर्ट ने खारिज की आरोपी की जमानत अर्जी
डिजिटल डेस्क जबलपुर ।
भोपाल को-ऑपरेटिव सेंट्रल बैंक के 111 करोड़ के घोटाले में गिरफ्तार तत्कालीन महाप्रबंधक रमाशंकर विश्वकर्मा को हाईकोर्ट ने जमानत का लाभ देने से इंकार कर दिया है। जस्टिस राजीव कुमार दुबे की एकलपीठ ने आर्थिक अपराध अन्वेषण ब्यूरो (ईओडब्ल्यू) की आपत्ति के मद्देनजर आरोपी की ओर से दायर अर्जी सुनवाई के बाद खारिज कर दी। अभियोजन के अनुसार  भोपाल को-ऑपरेटिव सेंट्रल बैंक में रमाशंकर विश्वकर्मा जुलाई 2017 से 5 जुलाई 2019 के दौरान महाप्रबंधक के पद पर पदस्थ थे। उसी दौरान आरोपी ने बैंक की इनवेस्टमेंट कमेटी के सदस्यों के साथ मिलकर बैंक की राशि को नियमों को ताक पर रखकर प्राईवेट पेपर में निवेश किया, जिसके कारण बैंक को 111 करोड़ रूपये का नुकसान हुआ था। इस संबंध में 6 सितम्बर 2019 को ईओडब्लयू में शिकायत की गई थी। ईओडब्ल्यू ने भ्रष्टाचार व अमानत में ख्यानत की धाराओं के तहत 18 दिसम्बर 2019 को आरोपी महाप्रबंधक रमाशंकर विश्वकर्मा को गिरफ्तार किया था। मामले पर जमानत का लाभ पाने आरोपी की ओर से यह अर्जी हाईकोर्ट में दायर की गई थी। मामले पर हुई सुनवाई के दौरान ईओडब्ल्यू की ओर से अधिवक्ता हरजस छाबड़ा ने अपनी आपत्ति उठाते हुए अदालत को बताया कि अभी प्रकरण की जांच जारी है। ऐसी स्थिति में यदि आरोपी को जमानत का लाभ देने से जांच प्रभावित हो सकती है। इस आपत्ति के मद्देनजर अदालत ने आरोपी की जमानत अर्जी खारिज कर दी।
 

कमेंट करें
WlO5C
NEXT STORY

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

Tokyo Olympics 2020:  इस बार दिखेगा भारत के 120 खिलाड़ियों का दम, 18 खेलों में करेंगे शिरकत

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक का काउंटडाउन शुरु हो चुका हैं। 23 जुलाई से शुरु होने जा रहे एथलेटिक्स त्यौहार में भारतीय दल इस बार 120 खिलाड़ियों के साथ 18 खेलों में दावेदारी पेश करेगा। बता दें 81 खिलाड़ियों के लिए यह पहला ओलंपिक होगा। 120 सदस्यों के इस दल में मात्र दो ही खिलाड़ी ओलंपिक पदक विजेता हैं। पी.वी सिंधू ने 2016 रियो ओलंपिक में सिल्वर तो वहीं मैराकॉम ने 2012 लंदन ओलंपिक में ब्रॉन्ज मेडल अपने नाम किया था।

भारत पहली बार फेंनसिग में चुनौता पेश करेगा। चेन्नई की भवानी देवी पदक की दावेदारी पेश करेंगी। भारत 20 साल के बाद घुड़सवारी में वापसी कर रहा है, बेंगलुरु के फवाद मिर्जा तीसरे ऐसे घुड़सवार हैं जो ओलंपिक में भारत का प्रतिनिधित्व करेंगे। 

olympic

युवा कंधो पर दारोमदार

टोक्यो ओलंपिक में भाग लेने जा रहे भारतीय दल में अधिकतर खिलाड़ी युवा हैं। 120 खिलाड़ियों में से 103 खिलाड़ी 30 से भी कम आयु के हैं। मात्र 17 खिलाड़ी ही 30 से ज्यादा उम्र के होंगे। 

भारतीय दल में 18-25 के बीच 55, 26-30 के बीच 48, 31-35 के बीच 10 तो वहीं 35+ उम्र के 7 खिलाड़ी हिस्सा ले रहे हैं। इस लिस्ट में सबसे युवा 18 साल के दिव्यांश सिंह पंवार हैं, जो शूटिंग में चुनौता पेश करेंगे, तो वहीं सबसे उम्रदराज 45 साल के मेराज अहमद खान होंगे जो शूटिंग में ही पदक के लिए भी दावेदार हैं।