comScore

जेल में बंद कैदियों से मुलाकात एक माह और टली -30 जून तक के आदेश जारी, कोरोना संकट 

जेल में बंद कैदियों से मुलाकात एक माह और टली -30 जून तक के आदेश जारी, कोरोना संकट 

डिजिटल डेस्क जबलपुर । कोरोना संक्रमण के चलते नेताजी सुभाषचंद्र बोस सेन्ट्रल जेल में बंद कैदियों एवं उनके रिश्तेदारों के लिए बुरी खबर यह है कि अगले एक माह और वे आपस मेें मुलाकात नहीं कर सकेंगे। जेल प्रशासन ने एक बार फिर से मुलाकात पर प्रतिबंध लगा दिया है। यह प्रतिबंध 30 जून तक जारी रहेगा। मार्च माह के अंतिम सप्ताह से जारी मुलाकात पर प्रतिबंध 31 मई को समाप्त हो रहा था, जिसके कारण एक बार फिर से प्रतिबंध के निर्देश जारी किये गए हैं। 
जेल में सामान्य दिनों में प्रतिदिन करीब डेढ़ सौ कैदियों के परिवारजन मुलाकात करने के लिए पहुँचते थे। इनकी संख्या उस दिन बढ़ जाती थी जब कोई त्यौहार आता था। उस दौरान दो सौ से ढाई सौ कैदियों के रिश्तेदार व परिचित मिलने के लिए पहुँचते थे। कोरोना संकट के कारण मुलाकात न केवल बंद कर दी गई, बल्कि लोगों से कहा गया है कि वे पूछताछ के लिए भी  जेल गेट नहीं पहुँचें। 
कैदियों के लिए व्यवस्थाएँ 
जेल में कैदियों को साफ-सफाई से रहने के साथ उनको हर दो घंटे में साबुन से हाथ धोने की व्यवस्था की गई है। उनके नहाने एवं कपड़े धोने की व्यवस्थाओं में इजाफा किया गया है। कैदियों को मास्क पहनना अनिवार्य किया गया है और उनके कपड़े हर दिन धोने के लिए कहा गया है।
विकल्प पर जोर
 कैदियों से उनके रिश्तेदारों से मिलने के लिए विकल्प के तौर पर अब मोबाइल नम्बर देकर बातचीत कराई जा रही है। इसके तहत ही 14 टेलीफोन नम्बरों की अलग से व्यवस्था की गई है। इनके जरिये पहले से समय निर्धारित किया जाता है और फिर कैदियों के रिश्तेदारों से बातचीत कराई जाती है। इस सुविधा का रोज करीब ढाई सौ कैदियों के रिश्तेदार फायदा उठा रहे हैं।
- गोपाल ताम्रकार, जेल अधीक्षक 

कमेंट करें
6vHzr