दैनिक भास्कर हिंदी: कटनी के विकास का बनेगा रोडमैप, CM को बुलाएंगे- उर्जा मंत्री

January 25th, 2019

डिजिटल डेस्क, कटनी। प्रदेश के उर्जा मंत्री एवं कटनी जिले के प्रभारी प्रियव्रत सिंह ने कहा कि कटनी में विकास की अपार संभावनाएं हैं। यहां के विकास का रोडमैप तैयार किया जाएगा। प्रभारी मंत्री ने यह बात जिला पंचायत सभागार में आयोजित पत्रकारवार्ता में कही। उन्होंने कहा कि कटनी के विकास को पूरा करना है, यहां के समग्र विकास की बात मुख्यमंत्री के सामने रखेंगे और उन्हे कटनी आमंत्रित भी करेंगे। उन्होंने कहा कि यह उनका पहला दौरा है और अधिकारियों को कटनी के विकास की भावनाएं तलाशने तथा रोडमैप बनाने के निर्देश दिए हैं। प्रभारी मंत्री जिला योजना समिति की बैठक के बाद पत्रकारों से रू-ब-रू हो रहे थे।

व्हाट्स एप ग्रुप बनाने दिए निर्देश
उर्जा मंत्री ने कहा कि मेटेनेंस के लिए बिजली बंद करने की सूचना जनप्रतिनिधियों एवं मीडिया को समय पर दी जाएगी। इसके लिए उपकेन्द्रवार व्हाट्स एप ग्रुप बनाने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं। इस ग्रुप में जनप्रतिनिधि एवं पत्रकारों को शामिल करने कहा है। ताकि मेटेनेंस के समय बिजली बंद रहने की जानकारी समय पर लोगों को मिल सके। मिक्स फीडर का घरेलू और किसानों के कनेक्शन के फीडर विभाजन का कार्य 15 मार्च तक पूरा करने के निर्देश अधिकारियों को दिए हैं, जिले में 24 मिक्स फीडर शेष हैं।

शहरी क्षेत्रों में भी भरे जाएंगे फार्म
जिला योजना समिति की बैठक में प्रभारी मंत्री श्री सिंह ने जय किसान फसल ऋण माफी योजना, ऊर्जा विभाग, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के कार्यों एवं गतिविधियों की समीक्षा की। नगरीय निकाय क्षेत्र के किसानों के आवेदनों के लेने की प्रक्रिया की गति बढ़ाते हुए ग्रामीण और नगरीय क्षेत्रों के अधिक से अधिक किसानों के आवेदन 26 जनवरी के पूर्व तक जमा कर लेने के निर्देश प्रभारी मंत्री ने दिए। उन्होंने कहा 26 जनवरी की ग्राम सभा में पात्र किसानों के सूची का वाचन किया जाए तथा नगरीय ग्रामीण क्षेत्रों में मुनादी कर सभी पात्र किसानों में 5 फरवरी तक शत-प्रतिशत किसानों के आवेदन प्राप्त कर लेने के निर्देश दिए।

पठारी क्षेत्रों के लिए पेयजल की बनेगी विशेष योजना
जिले के पठारी क्षेत्रों में ग्रीष्मकाल के दौरान पेयजल की सुलभ उपलब्धता के लिए विशेष योजना तैयार की जाएगी। इसके लिए एनव्हीडीए के अधिकारियों के साथ बैठक योजना तैयार करेंगे। इस आशय के निर्णय प्रदेश के ऊर्जा मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री प्रियव्रत सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न जिला योजना समिति की बैठक में लिया गया।