comScore

© Copyright 2019-20 : Bhaskarhindi.com. All Rights Reserved.

टूटी पटरी से गुजरी शटल,  बड़ा हादसा टला 

टूटी पटरी से गुजरी शटल,  बड़ा हादसा टला 

डिजिटल डेस्क कटनी । जबलपुर से रीवा जा रही शटल ट्रेन में बैठे यात्रियों में उस वक्त हड़कंप का माहौल बन गया  जब अचानक एक झटके के साथ ट्रेन लडख़ड़ाते हुए निवार और कटनी साउथ स्टेशन के मध्य रुकी । अचानक तेज आवाज के साथ उड़ी गिट्टियों से ट्रेन के यात्री घबरा गए।झटके से रुकी ट्रेन से घबराकर यात्री बोगियों से नीचे कूद गए।  यात्रियों ने ट्रेन से उतर कर जब इस संबंध में गार्ड, ड्राइवर से जानकारी चाही तो सेक्शन में रेल फैक्चर होने की सूचना उन्हें मिली । इस घटना के दौरान 1 घंटे तक शटल सेक्शन में खड़ी रही। 
यात्रियों में दिखा आक्रोश
जिस वक्त घटना हुई। ट्रेन की सभी बोगियों में बड़ी संख्या में यात्री मौजूद थे । दीपावली पर्व गुजरने के बाद ट्रेन में बढ़ी भीड़भाड़ के दौरान पहले ही ट्रेन जबलपुर से आधे घंटे लेट छूटी थी। इस तरह की घटना होने से यात्रियों में रेल प्रशासन की कार्यप्रणाली के विरोध तीव्र आक्रोश देखा गया। इस संबंध में रेलवे से प्राप्त जानकारी अनुसार  ट्रेन क्रमांक 51702 जबलपुर रीवा शटल सुबह लगभग 9:50 बजे निवार से आगे बढ़ी । कटनी साउथ स्टेशन के पहले ट्रेन की पटरी टूटी हुई थी।  ट्रेन गुजरने पर लगे झटकों से ड्राइवर द्वारा ट्रेन को इमरजेंसी ब्रेक लगाकर रोका गया।  डाउन लाइन पर पटरी फ्रेक्चर होने की जानकारी रेलवे इंजीनियर विभाग को दी गई। इस घटना के दौरान ट्रेन लगभग 1 घंटे तक सेक्शन में खड़ी रही। 
तो हो सकता था बड़ा हादसा 
इस संबंध में प्राप्त जानकारी अनुसार इसी सेक्शन से सुबह लगभग 9:15 बजे जबलपुर अटारी स्पेशल ट्रेन गुजरी है ।सेक्शन पर काम चलने के कारण कॉशन के तहत धीमी गति से ट्रेन निकलने का दौर जारी है यदि अटारी ट्रेन स्पीड से निकली होती तो गंभीर हादसा हो सकता था।  किसी के हताहत होने की जानकारी नहीं मिली है सूचना पाते ही मुड़वारा आरपीएफ एवं कटनी पोस्ट का स्टाफ  मौके पर पहुंचा और यात्रियों को समझाने का प्रयास किया । यात्रियों का कहना था कि लंबे समय तक सुधार चलने के बाद भी इस तरह की घटनाएं होना सोच का विषय है । घटना के दौरान मंडुआडीह जा रही एक्सप्रेस ट्रेन को भी एहतियात के तौर पर निवार स्टेशन पर रोका गया था। रेल अधिकारियों के मौके पर पहुंचने के बाद  सुरक्षा के तहत ट्रेन को आगे रवाना करवाया गया।
इनका कहना है 
निवार और कटनी साउथ स्टेशन के बीच किलोमीटर क्रमांक 1073 के पास रेल फ्रैक्चर की सूचना मिली थी। सूचना पर इंजीनियरिंग एवं संबंधित विभाग द्वारा मौके पर पहुंचकर आवश्यक सुधार कार्य शुरू कराया गया है।   ट्रेन को सावधानीपूर्वक आगे बढ़ाकर रीवा की ओर रवाना कर दिया गया है।
संजय दुबे, स्टेशन प्रबंधक
 

कमेंट करें
uPXVo
कमेंट पढ़े
Ranjan Kumar Yadav November 06th, 2019 07:24 IST

रेल्वे विभाग के ज्यादा सतर्क होने के कारण हादसा टल गया नहीं तो यात्री को पैदल जाना पड़ सकता था।

NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।