पन्ना: ग्रीष्मकालीन पहला पक्षी सर्वेक्षण पन्ना टाइगर रिजर्व ०९ से १२ जून तक

May 18th, 2022

डिजिटल डेस्क, पन्ना। पन्ना टाइगर रिजर्व द्वारा लेण्डस्केप में ग्रीष्मकालीन पक्षी सर्वेक्षण करवाने जा रहा है। पहली बार आयोजित किये जा रहे ग्रीष्मकालीन पक्षी सर्वेक्षण में शामिल होने के लिये अनुभवी बर्ड वॉचर्स को आमंत्रित किया गया है। वर्ड वाचर्स पक्षी सर्वेक्षण कार्य में शामिल होने के लिये टाइगर रिजर्व द्वारा जारी की गई। आवेदन लिंक के माध्यम से दिनांक १८ मई २०२२ तक आवेदन विवरण के साथ भेज सकते है। पन्ना टाइगर रिजर्व के फील्ड डायरेक्टर उत्तम कुमार शर्मा ने बताया कि सर्वेक्षण कार्य के लिये इच्छुक बर्ड वॉचर्स जिनके आवेदन प्राप्त होगें उनमें चयनित बर्ड वॉचर्स को सूचित करतें हुये उन्हेंं सर्वेक्षण कार्य में शामिल किया जायेगा। फील्ड डायरेक्टर श्री शर्मा ने बताया कि दिनांक ०९ जून से १२ जून तक पक्षी सर्वेक्षण का कार्य चलेगा ०९ जून को पहले दिन कर्णावती इन्टरप्रिटेशन सेन्टर मंडला में सुबह ११ बजे सर्वेक्षण कार्य के लिये सभी एकत्रित होगें तथा सर्वेक्षण से संबंधित संक्षिप्त जानकारी के बाद सर्वेक्षण कार्य के लिये बने समूहों को निर्धारित केैम्पों में भेजा जायेगा। दिनांक १० एवं ११ जून को पन्ना टाइगर रिजर्व के लैण्डस्केप में सर्वे कार्य पूरा किया जायेगा। दिनांक १२ जून को सर्वे दल सर्वेक्षित डाटा और उससे जुड़ी जानकारियों को प्रस्तुत करेगें। 
जंगली पक्षियों की हो सकेगी बेहतर निगरानी  
ग्रीष्मकालीन ऋतु उन पक्षियों के लिये महत्वपूर्ण है जो लेैण्डस्केप में प्रजनन करते है। वर्तमान समय शीतकालीन प्रवासी पक्षी अपने प्रजनन क्षेत्र में जा चुके है। स्थानीय निवासी पक्षी घोसलें में है और इस समय प्रजनन का समय होने से निगरानी करना महत्वपूर्ण कार्य हो जाता है। पक्षियों के बेहतर तरीके से निगरानी की व्यवस्था बनाने के उद्देश्य से पन्ना टाइगर रिजर्व प्रबंध पन्ना टाइगर रिजर्व के लेैण्डस्केप में पहली बार ग्रीष्मकालीन पक्षी सर्वेक्षण आयोजित कर रहा है जिसको लेकर प्रबंधन द्वारा पूरा कार्यक्रम तैयार कर इसको लेकर आवश्यक तैयारियां की जा रही है। टाइगर रिजर्व द्वारा शीतकालीन पक्षी सर्वेक्षण कराया जा चुका है जिसमें कई दुलर्भ प्रजातियां  के पक्षी एवं प्रवासी पक्षी मिले थे। पन्ना टाइगर रिजर्व में भारतीय गिद्धों के अलावा प्रवासी गिद्धों की कई दुलर्भ प्रजातियां रहती है।