comScore

शिक्षण कार्य एक सेवा है और सेवा का कोई मोल नही होता - कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा

December 14th, 2020 18:05 IST
शिक्षण कार्य एक सेवा है और सेवा का कोई मोल नही होता - कलेक्टर शिवराज सिंह वर्मा

डिजिटल डेस्क, बड़वानी। शिक्षण कार्य एक सेवा है और सेवा का कोई मोल नही होता, अतः समस्त शिक्षकों को अपना कार्य सिर्फ नौकरी के लिए न करते हुए सेवा भावना से करना चाहिए, ताकि इस आदिवासी अंचल के बच्चें पढ़ लिख कर कामयाबी के रास्ते पर चल सके । उक्त बाते कलेक्टर श्री शिवराज सिंह वर्मा ने पाटी विकास खण्ड के ग्राम सिंधी खोदरी में रुम टू रीड द्वारा रविवार को आयोजित बच्चों को लर्निंग किट वितरण कार्यक्रम में कही । कलेक्टर ने उपस्थित पालकों को भी प्रेरित किया कि वे शाला लगने पर अपने बच्चों को नियमित पढ़ने भेजे । साथ ही अपने विद्यार्थी जीवन के बारे में बताते हुए बच्चों को भी प्रोत्साहित किया कि वे अपने शिक्षकों से नियमित शिक्षा ग्रहण कर अभ्यास कार्य करें और काम्पीटिशन की भावना रखते हुए अपनी पढ़ाई करें । सभी बच्चें कमजोर न बने एवं निडर होकर पढ़ाई करें तभी वे अपने जीवन में सफल हो सकेगें । रुम टू रीड द्वारा तैयार लर्निंग किट का वितरण कलेक्टर एवं अन्य अधिकारियों द्वारा बच्चों को कर इस कार्यक्रम का शुभारंभ किया गया । इसमें पैरेण्ट हेण्डबुक, वर्क शीट, गतिविधि का पिटारा, स्टेशनरी एवं बेग बच्चों को दिए गए । यह लर्निंग किट पाटी विकास खण्ड की समस्त 50 डेमों शालाओं के कक्षा 1 से 5 तक पढ़ने वाले 3680 बच्चों को दिया जायेगा । इस कार्यक्रम में सहायक आयुक्त आदिवासी विकास श्री विवेक पाण्डे ने भी रुम टू रीड द्वारा जिले में किए गए कार्यो की सराहना करते हुए कहा कि इनके कार्यो से बच्चों के भाषा शिक्षण में मदद मिली है । कार्यक्रम में एस.डी.एम. बड़वानी श्री घनश्याम धनगर, जिला शिक्षा अधिकारी श्री सोलंकी, तहसीलदार पाटी, एपीसी श्री अशरफ खान, बीआरसी पाटी श्री प्रफुल्ल पुरोहित, संकुल प्राचार्य श्री कसरसिंग सोलंकी सरपंच ठान, रुम टू रीड के श्री यशवर्धन उन्याल, ताहिर अली मदन शर्मा एवं टीम भी उपस्थित थे । कार्यक्रम के अंत में आभार प्रदर्शन विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी श्रीमती राजश्री पंवार ने एवं संचालन रुम टू रीड के श्री अनीस खान ने किया ।

कमेंट करें
H5eBk