दैनिक भास्कर हिंदी: चौकीदारों को बंधक बनाकर लूटे थे 25 लाख के एल्यूमिनियम वायर, अलवर से गिरफ्तार

December 23rd, 2017

डिजिटल डेस्क जबलपुर।  पनागर थाना क्षेत्र के झिलमिली गांव में चौकीदारों को बंधक बनाकर 25 लाख रुपए का एल्यूमिनियम वायर लूटने वाले दो आरोपियों शमीम खान और किशन सैनी को पुलिस ने राजस्थान के अलवर से  गिरफ्तार कर लिया है। इस मामले में पुलिस को जैकम खान, मौषमदीन, मुल्ली उर्फ मुबीन, मौसम खान, नेतराम खटीक और प्रकाश खटीक की तलाश है। यह कार्रवाई क्राइम ब्रांच और पनागर ने संयुक्त रूप से की है। एएसपी नार्थ राजेश तिवारी और एएसपी क्राइम संदीप मिश्रा ने पत्रकार वार्ता में बताया कि केईसी इंटरनेशनल लिमिटेड कंपनी के एल्यूमिनियम के वायर ग्राम झिलमिली के राजेश पटेल के खेत में रखे हुए थे। एल्यूमिनियम वायर की चौकीदारी के लिए भोला गंजू और बीरबल गंजू को रखा गया था। 27 नवंबर को रात 11 बजे दो लोग आए, उन्होंने पूछा कि चौकीदारों जाग रहो हो। हमारे खेत के पाइप चोरी हो गए हैं। दोनों ने चौकीदारों को पकड़ लिया। इसके बाद उनके दो साथी और आ गए। चोर दोनों चौकीदारों को पकड़कर झाडिय़ों के पास ले गए और उनके हाथ-पैर बांध दिए। इसके बाद चारों ट्रक में एल्यूमिनियम तार के चार ड्रम ट्रक पर लादकर ले गए। बदमाश चौकीदारों के मोबाइल और टार्च भी ले गए।
नहर में पलटा ट्रक - आरोपी ट्रक में एल्यूमिनियम तार भरकर ले जा रहे थे। जैसे ही उनका ट्रक नहर के किनारे पहुंचा। ट्रक अनियंत्रित होकर पलट गया।
      आरोपियों ने ट्रक को सीधा करने की काफी कोशिश की, लेकिन तब तक सुबह हो चुकी थी। इसके बाद आरोपी मौके पर ट्रक क्रमांक-आरजे-32-जीए- 6752 को छोड़कर भाग निकले।
ट्रक नंबर से हुआ खुलासा - पुलिस ने बताया कि ट्रक नंबर के आधार पर पता चला कि ट्रक मालिक शमीम खान उम्र 35 वर्ष निवासी मुंडपुरीकला जिला अलवर का है। शमीम खान ने पूछताछ में बताया कि ट्रक जैकम खान निवासी अलवर लेकर गया था। उसने अपने साथी मौषमदीन, मुल्ली उर्फ मुबीन खान, मौसम खान, किशन सैनी, नेतराम खटीक और प्रकाश खटीक के साथ मिलकर घटना को अंजाम दिया था।
प्रकाश खटीक है फाइनेंसर - पूछताछ में पुलिस को पता चला है कि राजस्थान से जबलपुर तक आकर लूट करने के लिए फाइनेंस का इंतजाम प्रकाश खटीक ने किया था। प्रकाश एक लाख रुपए लेकर जबलपुर आया था। वह अपने साथ ट्रक, 709 मिनी ट्रक और एक कार भी लेकर आया था।
नेतराम ने की थी रैकी - पूछताछ में पता चला कि नेतराम दो दिन पहले जबलपुर आ गया था। उसने यहां आकर पता लगाया कि एल्यूमिनियम वायर कहां पर रखे हुए हैं। वहां पर कितने चौकीदार तैनात रहते हैं। उसने यहां तक पहुंचने के रास्ते के बारे में भी जानकारी ली। इसके बाद आरोपियों ने घट2ना को अंजाम दिया। आरोपियों को गिरफ्तार करने में अधारताल सीएसपी डॉ. नीरज चौरसिया, पनागर थाना प्रभारी उमेश तिवारी, एएसआई कपूर सिंह, राकेश बागरी,  प्रधान आरक्षक प्रशांत सोलंकी, आरक्षक अमित पटेल, शैलेन्द्र पटवा, रामसहाय कुशवाहा, राजाबाबू सोनकर, राकेश बहादुर सिंह और सचिन जैन की भूमिका सराहनीय रही।
कई जगह वारदात कर चुका है गिरोह - प्रदेश में एल्यूमिनियम तार चोरी की होने की कई जगह घटनाएं हो चुकी हैं। इसके पहले नरसिंहपुर, रीवा और विदिशा में भी एल्यूमिनियम तार चोरी किए गए थे। यह गिरोह तार चोरी करने के बाद राजस्थान में बेच दिया करता था। पहली बार यह गिरोह पुलिस के हत्थे चढ़ा है।