दैनिक भास्कर हिंदी: मां से विवाद किया तो भांजे ने मामा को उतारा मौत के घाट

October 19th, 2019

डिजिटल डेस्क कटनी । भाई की मौत पर मिले 98 हजार रुपये एवं मकान के कागजात के लिए बहन से  विवाद करना मनोहर मसीह के लिए जानलेवा साबित हुआ। शराब पीकर बहन से विवाद करने के कारण बौखलाए भांजे अनुराग उर्फ ऐजू ने सिर पर लोहे की राड मारकर मनोहर की हत्या कर दी। पुलिस ने आरोपी अनुराग उर्फ ऐजू मसीह को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। घटना बुधवार रात करीब 9.30 बजे की है। मृतक की बहन प्रेमलता ने गुरुवार दोपहर डेढ़ बजे घटनी सूचना माधवनगर थाना क्षेत्र की रंगनाथनगर पुलिस चौकी में दी। प्रेमलता सोनखरे ने पुलिस को दी जानकारी में बताया किशास्त्री चौक के पीछे फारेस्टर वार्ड में रहने वाला छोटा भाई मनोहर उर्फ छोटू मसीह अपने घर के आंगन में मृत पड़ा है जिसका फोरेंसिक आफीसर डॉ. अवनीश कुमार एवं पुलिस ने घटनास्थल पहुंच कर निरीक्षण किया गया। जांच में  प्रथम दृष्टया किसी ठोस कठोर वस्तु से सिर में वारकर हत्या करना पाया गया।
मां से झगड़ा करने से नाराज था आरोपी
पुलिस ने बताया कि मां से आए दिन विवाद करने से आरोपी अनुराग ने मामा को निपटाने का एक माह पहले प्लान बना लिया था।  आरोपी भांजे अनुराग ने घटना की रात  करीबन 09. 30 बजे राड लेकर हत्या करने के उद्देश्य से मामा के घर मे छुपकर बैठ गया। मनोहर उर्फ  छोटू मसीह के घर में दाखिल होते ही अनुराग ने लोहे की राड से मृतक के सिर में जोरदार प्रहार किया जिससे मनोहर की मौत हो गई। घटना के बाद आरोपी बाहर भागने के फिराक में था, जिसे पुलिस ने  रेलवे लाइन के पास पकड़ा गया। पुलिस ने धारा 302 के तहत अपराध पंजीबद्ध कर आरोपी अनुराग को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश किया, न्यायालय ने न्यायिक अभिरक्षा में आरोपी को जेल भेज दिया।
भाई की मौत पर  मिले थे 98 हजार
मामले की जांच में पुलिस को पता चला कि लखेरा चर्च में पादरी का काम करने वाले मृतक के बड़ा भाई मसीह याकूब की 6 माह पूर्व इसकी मृत्यु गई थी। जिस पर  चर्च प्रबंधन ने 98 हजार रूपये मनोहर उर्फ छोटू मसीह व बड़ी बहन प्रेमलता सोनखरे को दिये थे। मनोहर अत्याधिक शराब पीने का आदि होने के कारण पूरी रकम मृतक की बड़ी बहन  प्रेमलता सोनखरे ने रख ली थी। मृतक के मकान के कागजात भी बड़ी बहन प्रेमलता सोनखरे के कब्जे में थे। जिसे लेकर आये दिन मनोहर उर्फ छोटू मसीह अपनी बडी बहन प्रेमलता सोनखरे पति हीरा लाल सोनखरे  के सुदर्शन बाल मंदिर स्थित घर जाकर रुपये व मकान के कागजात की मांग कर झगड़ा करता था। जिसका भांजे अनुराग उर्फ ऐजू द्वारा विरोध किया गया और इसी बात को लेकर उनमें कहासुनी होती रहती थी।