दैनिक भास्कर हिंदी: क्रिकेट: कोरोनावायरस के कारण IPL के शेड्यूल में बदलाव, अब 15 अप्रैल से होगा टूर्नामेंट

March 13th, 2020

हाईलाइट

  • IPL का 13वां संस्करण मौजूदा कार्यक्रम के अनुसार 29 मार्च से शुरू नहीं होगा
  • कोरोनावायरस के चलते टूर्नामेंट को मिड अप्रैल तक स्थगित कर दिया गया
  • आधिकारिक घोषणा शाम तक होने की उम्मीद है

डिजिटल डेस्क, मुंबई। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) का 13वां संस्करण मौजूदा कार्यक्रम के अनुसार 29 मार्च से शुरू नहीं होगा। कोरोनावायरस के चलते टूर्नामेंट को मिड अप्रैल तक स्थगित कर दिया गया है। फ्रेंचाइजियों को भी इसकी जानकारी दे दी गई है। इसकी आधिकारिक घोषणा शाम तक होने की उम्मीद है। इसे लेकर बीसीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली और सचिव जय शाह के नेतृत्व में शुक्रवार को मुंबई में बोर्ड के मुख्यालय में बैठक की। हालांकि इस मीटिंग की आधिकारिक जानकारी नहीं आई है।

टूर्नामेंट 15 अप्रैल से आयोजित किया जाएगा
बीसीसीआई के एक अधिकारी ने आईएएनएस से कहा कि टूर्नामेंट को आयोजित कराने का सबसे सही तरीका यही है कि इसे 15 अप्रैल से शुरू किया जाए। उन्होंने कहा, हां, टूर्नामेंट को स्थागित करने फैसला अंदरूनी तौर पर ले लिया गया है और अब यह टूर्नामेंट 15 अप्रैल से आयोजित किया जाएगा। फ्रेंचाइजी के एक अधिकारी ने कहा, 'हां, हमें बता दिया गया है कि आईपीएल अब 15 अप्रैल से शुरू होगा, लेकिन हमें विदेशी खिलाड़ियों की उपलब्धता को लेकर सफाई चाहते हैं। अगर हमारे चार विदेशी खिलाड़ी नहीं होंगे तो आईपीएल अपना वर्चस्व खो देगा क्योंकि भारतीय सितारों की तरह ही वह भी हमारी टीम का अहम हिस्सा हैं।

विदेशी खिलाड़ियों के बिना यह घरेलू टूर्नामेंट बन जाएगा
एक अन्य अधिकारी ने कहा, हमने अपनी टीम चार विदेशी खिलाड़ियों को ध्यान में रखकर बनाई है। अगर यह लीग भी बिना विदेशी खिलाड़ियों के खेली जाती है तो यह सैयद मुश्ताक अली, विजय हजारे ट्रॉफी की तरह ही घरेलू टूर्नामेंट बन जाएगा। इस लीग के वर्चस्व को बरकरार रखने के लिए जरूरी है कि विदेशी खिलाड़ी इसमें हों। जब यह बात आती है तो किसी तरह से विचारों में भिन्नता नहीं है। इस समय बिना दर्शकों के लीग को आयोजित करना सबसे सही विकल्प है ना कि स्थागन।

BCCI और IPL टीम के मालिकों की शनिवार को बैठक
बता दें कि सरकार ने बुधवार को कुछ अधिकारियों को छोड़कर सभी विदेशी वीजा को 15 अप्रैल तक के लिए रद्द करने का फैसला किया है। वहीं दिल्ली सरकार ने शुक्रवार को ही साफ कर दिया है कि राष्ट्रीय राजधानी में आईपीएल के मैच आयोजित नहीं किए जाएंगे। उधर, बीसीसीआई और आईपीएल टीम के मालिकों की शनिवार को बैठक होनी है। फ्रेंचाइजियां बिना दर्शकों के मैचों के आयोजन को लेकर तैयार हैं, वह हालांकि अपने विदेशी खिलाड़ियों को इस लीग में चाहती हैं।