फैक्ट चैक: जानिए क्या है भारत के इंफ्रास्ट्रक्चर के खिलाफ लड़ने वाले राहुल गांधी के बयान की सच्चाई

August 6th, 2022

डिजिटल डेस्क, भोपाल। सोशल मीडिया पर इन दिनों एक ऐसा मैसेज वायरल हो रहा है जिसको देख-सुन कर आप हैरान रह जाएंगे। 4 सेकंड का यह वीडियो कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी का है जिसमें वह कहते हुए नजर आ रहे हैं, हम हिंदुस्तान के पूरे इंफ्रास्ट्रक्चर के खिलाफ लड़ रहे हैं।   

सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहे इस वीडियो क्लिप पर कई यूजर्स तंज कर रहे हैं। एक यूजर ने ट्विटर पर लिखा, 'जहां एक ओर मोदी जी नए कश्मीर में नया इंफ्रास्ट्रक्चर खड़ा करके कश्मीर को बदल रहे हैं और सुनए पप्पू क्या कह रहा है. ये है ठग लीडर राहुल गांधी का दुर्लभ कबूलनामा !!!' 

पड़ताल - राहुल गांधी के इस बयान की सच्चाई जानने के लिए हमने इसके बारे में जानकारी एकत्रित की। कीवर्ड की सहायता से खोजने पर हमें एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का एक वीडियो मिला। 5 अगस्त 2022 की इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक पत्रकार के सवाल का जवाब देते हुए राहुल ने कहा था,  'किसी लोकतंत्र में जब विपक्ष लड़ता है तो वो इंस्टीट्यूशंस के बल पर लड़ता है. जो देश का लीगल, ज्यूडिशियल स्ट्रक्चर होता है, जो देश का इलेक्टोरल स्ट्रक्चर होता है, जो देश की मीडिया होती है उसके बल पर विपक्ष खड़ा होता है। वो सब जो इंस्टिट्यूशंस हैं वो सब के सब सरकार को पूरा सपोर्ट दे रहे हैं।'

राहुल ने अपने बयान में आगे कहा, 'क्यूंकि सरकार ने अपने लोग इंस्टिट्यूशंस में बिठाए हुए हैं. हिंदुस्तान का आज हर इंस्टिट्यूशन आजाद नहीं है। हिंदुस्तान का हर इंस्टिट्यूशन आज आरएसएस के कंट्रोल में है। आरएसएस का एक व्यक्ति हर इंस्टिट्यूशन में बैठा है. तो हम एक राजनैतिक पार्टी से नहीं लड़ रहे हैं।' 
इसके साथ ही राहुल ने कहा, 'हम हिंदुस्तान के पूरे इंफ्रास्ट्रक्चर के खिलाफ लड़ रहे हैं. जब हमारी सरकार होती थी इंफ्रास्ट्रक्चर न्यूट्रल रहता था। हम इंफ्रास्ट्रक्चर को कंट्रोल नहीं करते थे. दो राजनीतिक पार्टियों, तीन पार्टियों की लड़ाई होती थी. आज इंफ्रास्ट्रक्चर सरकार का पूरा का पूरा एक पार्टी के साथ है।' 

राहुल के बयान का यह वीडियो कांग्रेस के ऑफिशियल यूट्यूब अकाउंट पर मौजूद है। इसके साथ ही इस प्रेस कॉन्फ्रेंस की जानकारी कई मीडिया रिपोर्टस् में भी है। 

पड़ताल से साफ है कि राहुल गांधी के ये वीडियो क्लिप 5 अगस्त को गई उनकी एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांटछांट करके बनाई गई है। दरअसल, अपने बयान में राहुल ने कहा था इस समय देश के  इंस्टीट्यूशंस पर बीजेपी और आरएसएस का कब्जा है। इंस्टीट्यूशंस के इस पूरे इनफ्रास्ट्रक्चर को विपक्ष की आवाज दबाने के लिेए इस्तेमाल किया जाता है। इसलिए हमारी लड़ाई पूरे इन्फ्रास्ट्रक्चर के खिलाफ है।  

खबरें और भी हैं...