दैनिक भास्कर हिंदी: वजन बढ़ाना है तो करें अश्वगंधा और शतावरी का सेवन

November 7th, 2017

डिजिटल डेस्क, भोपाल वैसे तो मोटे लोगों का वजन कम करने के कई उपाय हैं लेकिन, जिनका वजन कम है उनके लिए कुछ ज्यादा आप्शन नहीं बचते। वजन बढ़ाने के लिए आयुर्वेद में एक बेहतरीन उपाय है। अश्वगंधा और शतावरी के सेवन से दुर्बल व्यक्ति की सेहत दुरुस्त हो सकती है। आजकल बहुत से युवा आकर्षक बॉडी पाने के लिए तमाम तरह की दवाओं आदि का सेवन करते हैं। ऐसे लोग भी शतावरी और अश्वगंधा के सेवन से बिना किसी साइड इफेक्ट के स्वस्थ और आकर्षक शरीर पा सकते हैं।

सेवन का तरीका

इनके सेवन से पहले एक बार चिकित्‍सक की सलाह भी जरूर लेनी चाहिए। वैसे किसी भी उम्र के लोग अश्‍वगंधा और शतावरी का सेवन कर सकते हैं। अश्वगंधा और शतावरी में ऐसे तत्‍व मौजूद होते हैं जो बहुत गंभीर रोगों के उपचार में भी कारगर होते हैं। इसके सेवन से तेजी से वजन बढ़ता है। इसका सेवन करने के साथ-साथ व्‍यायाम करना भी जरूरी होता है। ये चूर्ण आसानी से मार्केट में मिल जाएगा। रोजाना सुबह और शाम आधा चम्‍मच यानी लगभग 5 ग्राम चूर्ण गर्म दूध में मिलाकर पिएं। आयुर्वेद के मुताबिक अश्वगंधा और शतावरी के चूर्ण से बनी इस औषधि का असर एक सप्‍ताह के भीतर ही दिखने लगता है।

ये चूर्ण शरीर को ताकत प्रदान करने के साथ साथ आलस, थकान आदि दूर करता है। साथ ही साथ तनाव कम करने, अनिद्रा, नपुंसकता को दूर करने और सेक्स संबंधी समस्याओ को दूर करने के लिए भी अश्वगंधा का प्रयोग किया जाता है। यह रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में मददगार औषधि है। जिन व्यक्तियों में कमजोरी, धातु दुर्बलता, नपुंसकता, शारीरिक क्षीणता है उनके लिए शतावरी बेहतरीन औषधि है।

अश्वगंधा, अपने सूजन कम करने के गुण, एंटी ऑक्सीडेंट और तनाव कम करने के गुणों के साथ, हृदय स्वास्थ्य की समस्याओं के लिए अच्छा है। यह हृदय की मांसपेशियों को मज़बूत और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है। एरिज़ोंना विश्वविद्यालय में एक अध्ययन में संकेत दिया गया है कि यह रक्त कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नीचे लाता है।