दैनिक भास्कर हिंदी: अब्दुल्ला-मुफ्ती परिवार ने जम्मू-कश्मीर के युवाओं के साथ सौतेला व्यवहार किया : अनुराग ठाकुर

November 30th, 2020

हाईलाइट

  • अब्दुल्ला-मुफ्ती परिवार ने जम्मू-कश्मीर के युवाओं के साथ सौतेला व्यवहार किया : अनुराग ठाकुर

नई दिल्ली, 30 नवंबर (आईएएनएस)। वित्त एवं कॉर्पोरेट मामलों के राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को जम्मू-कश्मीर में अब्दुल्ला और मुफ्ती परिवार पर तीखा हमला करते हुए कहा कि उन्होंने जम्मू-कश्मीर में लोकतंत्र और लोकतांत्रिक मूल्यों को नष्ट किया है।

ठाकुर ने कहा, उन्होंने आतंक को पनपने दिया और अंधकार के एक युग को शुरू किया है। उन्होंने जम्मू-कश्मीर के युवाओं को बिना किसी भविष्य की संभावनाओं के छोड़ दिया है।

अब्दुल्ला और मुफ्ती परिवार ने युवाओं को अलग-थलग करते हुए अलगाववादियों से मेलजोल बढ़ाया है। उन्होंने आतंकवादियों की भलाई के लिए तो चिंता की, जबकि युवाओं को कैरियर के अवसरों और नौकरियों के अवसर के बिना कमजोर बना दिया है। इन परिवारों ने जम्मू-कश्मीर के रक्त और पसीने पर अपनी विरासत खड़ी की है।

ठाकुर ने आगे कहा, अब्दुल्ला और मुफ्ती परिवार ने युवाओं को गुमराह किया, उनकी आवाज को दरकिनार किया, उनकी राजनीतिक आकांक्षाओं को दरकिनार कर दिया।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेता ने कहा कि अब्दुल्ला और मुफ्ती परिवार ने भविष्य में युवाओं को उनके माता-पिता को सुरक्षित रखने में मदद करने के बजाय उन्हें पत्थर और बंदूकें दीं। ठाकुर ने कहा कि युवाओं को ऐसे मौके ही नहीं दिए गए कि उनके परिजन उन पर गर्व करें।

ठाकुर ने कहा, इन परिवारों ने अपने महल खड़े कर लिए मगर लोगों को दुख में छोड़ दिया। वे खुद दशकों से विलासिता का जीवन जी रहे हैं, मगर वह जम्मू एवं कश्मीर के युवा और लोग हैं, जो आतंक के वातावरण से पीड़ित हैं और घुटन भरा जीवन जी रहे हैं।

उन्होंने कहा, जम्मू-कश्मीर के बेटों और बेटियों को डर का जीवन जीना पड़ा। अब्दुल्ला और मुफ्ती परिवार ने जम्मू-कश्मीर के बच्चों और युवाओं को अपना क्यों नहीं माना? उन्होंने उन्हें विश्व स्तर की शिक्षा, स्वास्थ्य सेवा, रोजगार और सामाजिक सुरक्षा के अवसर क्यों नहीं प्रदान किए? उन्होंने जम्मू-कश्मीर के युवाओं के साथ सौतेला व्यवहार क्यों किया?

ठाकुर ने कहा, डीडीसी चुनावों से पता चलेगा कि लोकतंत्र जीवंत है और युवाओं की आवाज भाजपा की जीत में निर्णायक भूमिका निभाएगी। जम्मू-कश्मीर के युवा और लोग अपने भाग्य और भविष्य का निर्धारण करेंगे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भारत के नागरिकों को अपने परिवार के रूप में मानते हैं और जम्मू-कश्मीर के प्रतिभाशाली युवाओं की आकांक्षाओं को पूरा करने के साथ-साथ एक उज्‍जवल भविष्य प्रदान करने में कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

एकेके/एएनएम