comScore

भोपाल: सांसद प्रज्ञा ठाकुर को मिला संदिग्ध पत्र, बोली- राष्ट्र के दुश्मन कर रहे साजिश

भोपाल: सांसद प्रज्ञा ठाकुर को मिला संदिग्ध पत्र, बोली- राष्ट्र के दुश्मन कर रहे साजिश

हाईलाइट

  • FSL की टीम पत्र की जांच कर रही है
  • पुलिस ने दर्ज मामला कर लिया है
  • प्रज्ञा ठाकुर को ऐसे पत्र पहले भी मिले हैं

डिजिटल डेस्क, भोपाल। अपने विवादित बयानों के कारण चर्चा में बनीं रहने वाली भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को संदिग्ध पत्र मिला है। प्रज्ञा को उर्दू भाषा में लिखा गया यह पत्र सोमवार को भोपाल स्थित उनके आवास पर मिला। इस पत्र में पाउडर जैसा पदार्थ भी मिला। पुलिस ने मामला दर्ज कर इसे जांच के लिए फोरेंसिक साइंस लेबोरेटरी (FSL) भेज दिया है। FSL की टीम संदिग्ध पत्र की जांच कर रही है।

बता दें कि इस पत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और प्रज्ञा ठाकुर की तस्वीरों पर क्रॉस का निशान बना हुआ है। हालांकि इसमें क्या लिखा है कि, इस बात की अब तक कोई जानकारी नहीं दी गई है। बहरहाल पुलिस मामले की जांच कर रही है।

क्या कहा प्रज्ञा ने?
सासंद प्रज्ञा ने बताया कि 'FSL को भेजा गया पत्र उर्दू में लिखा गया है और इसके साथ कुछ और पेपर्स भी अटैच थे।' उन्होंने कहा कि 'मुझे पहले भी इस तरह के पत्र मिले हैं और पुलिस को भी सूचना दी, लेकिन उन्होंने कभी कोई कार्रवाई नहीं की।' उनका कहना है कि 'यह राष्ट्र के दुश्मनों द्वारा एक बड़ी साजिश है।'

उल्लेखनीय है कि प्रज्ञा ठाकुर अपने विवादों के कारण हमेशा विवादों में घिरी रहती हैं। वे कई बार राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को ‘देशभक्त’ बता चुकी हैं, जिसे लेकर उन्हें भाजपा के ही विरोध का सामना करना पड़ा। उनके गोडसे को देशभक्त कहने पर पीएम मोदी ने भी नाराजगी जताई थी और प्रज्ञा को माफ नहीं करने की बात कही थी। इसके अलावा उन पर भाजपा की सदस्यीय बैठकों में शामिल होने पर भी रोक लगा दी गई है।

कमेंट करें
OV5Go