दैनिक भास्कर हिंदी: अमृतसर 59 मौत: लोकोपायलट ने कहा- पत्थर फेंक रहे थे लोग, इसलिए नहीं रोकी ट्रेन

October 21st, 2018

हाईलाइट

  • पंजाब के अमृतसर में एक बड़ा हादसा हुआ है।
  • जोड़ा फाटक पर ट्रेन की चपेट में आने से दर्जनों लोगों की मौत
  • ये सभी लोग दशहरा देखने के लिए पहुंचे थे।

डिजिटल डेस्क, अमृतसर। अमृतसर में हुए ट्रेन हादसे के बाद जीआरपी ने एफआईआर दर्ज कर ली है। जीआरपी ने घटना के वक्त ट्रेन चला रहे लोकोपायलट अरविंद कुमार से पूछताछ भी की है। अरविंद ने बताया कि उन्होंने इमरजेंसी ब्रेक लकाया था, लेकिन ट्रेन समय पर रुक नहीं पाई, जिसके बाद गुस्साए लोगों ने पत्थर फेंकने शुरू कर दिए। ट्रेन में सवार यात्रियों की जान बचाने के लिेए मजबूरी में उन्हें ट्रेन वहां से आगे बढ़ानी पड़ी। इससे पहले रेलवे ट्रैक घेरकर बैठे स्थानीय लोगों पर पुलिस ने लाठीचार्ज कर दिया। इसमें एक पुलिसकर्मी भी घायल हो गया है। शुक्रवार को हुए हादसे में 59 लोगों की मौत के बाद लोगों ने रेलवे ट्रैक जाम कर रखा था। रविवार सुबह पुलिस बल ट्रैक खाली कराने जौड़ा फाटक पहुंचा था। काफी मशक्कत के बाद पुलिस ने ट्रैक खाली करवा लिया है। फिलहाल ट्रैक पर ट्रैनों का आवागमन शुरू हो गया है।

 

इससे पहले घटना के अगले दिन (16 घंटे बाद)  पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह अमृतसर के गुरु नानक देव अस्पताल पहुंचे थे। अमरिंदर इजरायल जाने के लिए दिल्ली में थे, लेकिन हादसे की खबर सुनने के बाद वो दिल्ली से वापस लौट गए। इस दौरान उन्होंने कहा कि हादसे में मृत लोगों के लिए तत्काल 3 करोड़ रुपए जारी किए जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि इस हादसे की मजिस्ट्रियल जांच पुलिस कमिश्नर के निर्देशन में करवाई जाएगी, जिसकी रिपोर्ट 4 सप्ताह के अंदर आएगी। कैप्टन हादसे वाली जगह पर भी गए। उन्होंने विपक्षी पार्टियों से अनुरोध किया है कि इस समय साथ आकर हादसे में प्रभावित लोगों की मदद करें। बता दें कि शुक्रवार रात रावण दहन के दौरान हुए हादसे में अब तक 59 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 57 घायल बताए जा रहे हैं। अब उस आवेदन की तस्वीर भी सामने आई है, जो आयोजन समिति ने पुलिस को दिया था। आवेदन में लिखा है कि पटरियों के पास रावण दहन की अनुमति दी जाए, जिस पर सब इंस्पेक्टर दलजीत सिंह के साइन भी हैं।

 

इससे पहले शुक्रवार को पंजाब के अमृतसर में रावण दहन के दौरान बड़ा रेल हादसा हो गया था। यहां चौरा बाजार के पास जौड़ा फाटक पर ट्रेन की चपेट में आने से 59 लोगों की मौत हो गई थी। अब तक 57 से ज्यादा लोग घायल बताए जा रहे हैं। सभी लोग दशहरा देखने पहुंचे थे। हादसे के वक्त घटनास्थल पर सैकड़ों लोग मौजूद थे। भीड़ ज्यादा होने के कारण कई लोग रेलवे ट्रैक पर खड़े हो गए, तभी अचानक ट्रेन आ गई और लोग उसकी चपेट में आ गए। हादसा ट्रेन 74943 नाकोदर-जालंधर सिटी डीएमयू से हुआ, जो जालंधर से अमृतसर की तरफ आ रही थी। मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर के पहले कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू अस्पताल में घायलों का हालचाल जानने पहुंचे थे। इस हादसे में कई खुलासे भी हो रहे हैं, लोको पायलट (ट्रेन चालक) ने कहा कि उसे ग्रीन सिग्नल मिला था और किसी ने इस बात की जानकारी नहीं दी कि पटरी पर सैकड़ों लोग जमा हैं। चालक ने यह भी कहा कि अचानक ट्रेन को नहीं रोका जा सकता था। इससे हादसा और गंभीर होने की संभावना थी।

 

अधिकारियों के मुताबिक, रावण दहन के बाद आतिशबाजी की गई। आतिशबाजी के कारण लोग पीछे की तरफ हटने लगे जहां पर ट्रेन ट्रेक था। रेलवे पटरियों पर अचनाक अलग-अलग दिशा से दो ट्रेनें एक ही समय में आ गईं, जिसने लोगों को वहां से हटने का समय भी नहीं मिला। कार्यक्रम के लिए प्रशासन से परमिशन भी नहीं ली गई थी। घटना का एक वीडियो सामने आया है, जिसमें साफ दिख रहा है कि पटरी और कार्यक्रम स्थल के बीच काफी दूरी थी, लेकिन लोग पटरी पर खड़े थे।

 

पाकिस्तानी पीएम इमरान ने जताई संवेदना

 

 

 

इंडियन रेलवे ने अमृतसर हादसे के हेल्पलाइन नंबर जारी किए हैं। अमृतसर रेलवे हेल्पलाइन नंबर - 0183- 2223171, 0183 2564485, मनावाला स्टेशन - Rly -73325, BSNL - 0183-2440024; पावर केबिन ASR-Rly - 72820, BSNL - 0183-2402927; विजय साहोटा, SSE: 7986897301 और विजय पटेल, SSE: 7973657316। नॉर्दन रेलवे ने भी अमृतसर एक्सिडेंट के बाद नई दिल्ली पर हेल्पलाइन नंबर जारी किए है। 01123342954, 01123341074, 01142622280 & 1072- 4 लाइन, रेलवे नंबर 22280।

 

 

LIVE UPDATES

04.00 PM : शनिवार दोपहर गुस्साए लोगों ने शिवाला फाटक के गेटमैन निर्मल सिंह की पिटाई की और उसे रेलवे के केबिन (एस-26-ई3) से नीचे फेंक दिया। उनके सिर में गंभीर चोटें आई हैं।

01.00PM: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह दोपहर 1 बजे अमृतसर के गुरु नानक देव अस्पताल पहुंचे।

07.00AM: पंजाब सरकार में मंत्री और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू ने अमृतसर के गुरु नानक देव अस्पताल पहुंचकर घायलों का हाल जाना।

03.20AM: पंजाब के राज्यपाल वीपी सिंह बंडोरे बदनौरे ने अस्पताल का दौरा किया। उन्होंने कहा कि मामले की जांच कराई जा रही है, जो भी दोषी पाया जाएगा उस पर कठोर कार्रवाई होगी।

03.00AM: अमृतसर सिविल अस्पताल के चीफ मेडिकल ऑफिसर ने बताया कि अब तक 60 लोगों की मौत हो चुकी है और 50 लोग घायल हैं।

02.50AM: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पंजाब ट्रेन हादसे पर दुख व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को सख्त हिदायत दी गई है कि किसी को भी इलाज या दूसरी कोई समस्या नहीं आनी चाहिए।

02.45AM: रेलवे बोर्ड चेयरमैन अश्विनी लोहानी हादसे वाली जगह  पर पहुंचे हैं, लोहानी कल रात में ही विशेष ट्रेन से दिल्ली से अमृतसर के लिए रवाना हुए थे।

02.35AM: कांग्रेस नेता और पंजाब सरकार में मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू पीड़ितों का हाल जानने गुरु नानक देव अस्पताल पहुंच गए हैं। सिद्धू ने घटना से जुड़े किसी भी सवाल का जवाब देने से इनकार कर दिया।

02.05AM: घटनास्थल पर ही रामलीला का मंचन भी हुआ था और इस रामलीला में रावण की भूमिका निभाने वाले दलबीर की भी इस रेल हादसे में मौत हो गई है।

01.15AM: मौके पर पहुंचे अकाली दल नेता और पूर्व मंत्री विक्रम सिंह मजीठिया ने कहा कि सिद्धू और उनकी पत्नी इस हादसे के लिए जिम्मेदार हैं।

01.05AM: मनोज सिन्हा ने कहा, 'यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण घटना है. सूचना पाते ही हमारी राहत टीम यहां पहुंच गई थी. पूरा रेलवे प्रशासन घायलों को बेहतर से बेहतर इलाज देने में जुटा हुआ है. इसके अलावा भारत सरकार की टीमें भी इसमें लगी हुई हैं.'

12:55 AM : अमृतसर ट्रेन दुर्घटना की जगह पर पहुंचे रेलवे राज्य मंत्री मनोज सिन्हा ने कहा, रेलवे प्रशासन सभी प्रकार की जरूरी मदद प्रदान करने के लिए काम पर है। यह राजनीति करने का समय नहीं है। प्राथमिकता घायल लोगों को सर्वश्रेष्ठ चिकित्सा सहायता देना है। रेलवे प्रशासन को इस कार्यक्रम के बारे में कोई जानकारी नहीं थी।

12:30 AM : नॉर्दन रेलवे के सीपीआरओ ने बताया कि इस हादसे के कारण, 13 ट्रेनों को शॉर्टली टर्मिनेट कर दिया गया है। 5 ट्रेनों की दूरी कम की गई है। 6 ट्रेनें रद्द की गईं है और 2 ट्रेनों को डायवर्ट किया गया है।

12:20 AM : केंद्रीय रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा ने घटनास्थल पर पहुंचकर स्थिती का जायजा लिया और लोगों से बात की।

11:30 PM : सिविल हॉस्पिटल के चीफ मेडिकल ऑफिसर ने कहा कि ट्रेन हादसे में 60 लोगों की मौत हुई है, जबकि 51 घायल है।

11:15 PM : अमृतसर ट्रेन दुर्घटना को लेकर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय सचिव प्रीती सुदान ने पंजाब के प्रधान स्वास्थ्य सचिव सतीश चंद्र से बात की है। वह अमृतसर जा रहे है। स्वास्थ्य मंत्री ने पीजीआई चंडीगढ़ से अलर्ट रहने के लिए कहा है।

11:00 PM : सिविल अस्पताल के आपातकालीन चिकित्सा अधिकारी, डॉ. संदीप ने कहा कि अब तक बच्चों सहित लगभग 60 से ज्यादा घायल लोगों को मेडिकल ट्रीटमेंट दिया गया है। अधिकांश लोगों को ऑर्थोपेडिक इंजूरी, एब्रेशन्स, हेड ट्रॉमा और आंखों में चोट आई है। 

10:45 PM : अमृतसर के सांसद गुरजीत सिंह औजला जो सिविल अस्पताल में मौजूद हैं ने कहा, "घटना की जांच के आदेश दिए गए हैं। जो भी दोषी पाए जाएंगे उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी, भले ही वह नवजोत कौर सिद्धू हो।

10:30 PM : इस हादसे के बाद पंजाब में राजकीय शोक घोषित कर दिया गया है। शनिवार को सभी कार्यालय और शैक्षणिक संस्थान बंद रहेंगे।  

10:25 PM : केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने कहा, अमृतसर ट्रेन त्रासदी पर शोक जताने के लिए उनके पास पर्याप्त शब्द नहीं हैं। उन परिवारों के लिए मेरी गहरी संवेदनाएं हैं जिन्होंने अपने प्रियजनों को खो दिया। इस घटना की जांच की जानी चाहिए क्योंकि प्रशासन पर गंभीर सवाल है। 

10:15 PM : प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने मृतकों के परिवार के लिए 2 लाख रुपये और अमृतसर ट्रेन दुर्घटना में घायल लोगों के इलाज के लिए 50,000 रुपये देने का ऐलान किया है।

10:05 PM: पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने राहत और पुनर्वास कार्यों की निगरानी के लिए क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप की स्थापना की है। इस ग्रुप में स्वास्थ्य मंत्री ब्रह्म मोहिन्द्रा, राजस्व मंत्री सुखबिंदर सिंह सरकारिया और तकनीकी शिक्षा मंत्री चरनजीत एस चन्नी हैं। 

9:45 PM: हादसे की खबर सुनकर रेल मंत्री पीयूष गोयल अपनी अमेरिका ट्रिप कैंसिल कर वापस लौट रहे हैं।

9:35 PM: वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा, यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। उन लोगों के प्रति मेरी संवेदनाएं जिन्होंने अपने प्रियजनों को उस हादसे में खो दिया जो प्रारंभिक रिपोर्टों से एक त्रासदी प्रतीत होती है जिसे रोका जा सकता था

9:20 PM: यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा कि अमृतसर ट्रेन हादसे में मारे गये लोगों के प्रति गहरा दुख है। घायलों को तत्काल उच्चतम स्तर का उपचार उपलब्ध कराना सरकार की नैतिक ज़िम्मेदारी है। ये दुर्घटना रेलवे-प्रशासन की बदइंतज़ामी और लापरवाही का दर्दनाक परिणाम है।

9:10 PM: इंडियन रेलवे की एडीजी पीआर ने कहा, यह एक दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटना है। हमारे पास अभी सही आंकड़ा नहीं है कि कितने लोगों की इस हादसे में मौत हुई है। दुर्घटना राहत ट्रेन साइट पर पहुंच गई है। रेलवे राज्य मंत्री मनोज सिन्हा भी इस स्थान पर जा रहे हैं।

9:05 PM: कांग्रेस नेता सिद्धू की पत्नी नवजोत कौर ने कहा, रावण का पुतला जलने के बाद वह वहां से चली गई थी, इसके बाद ये हादसा हुआ। हमारी प्राथमिकता है कि घायलों का जल्द से जल्द इलाज हो। दशहरा का त्यौहार हर साल यहां मनाया जाता है। जो लोग इस मामले पर राजनीति कर रहे है उन्हें शर्म आनी चाहिए।  

9:00 PM: रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा, अमृतसर में हुई ट्रेन दुर्घटना से दुखी हूं। पीड़ितों के परिवारों के साथ मेरी गहरी संवेदना हैं। मैं घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं। रेलवे तत्काल राहत और बचाव अभियान में जुट गई है।

8:55 PM: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि पंजाब में ट्रेन एक्सीडेंट में 50 से ज्यादा लोगों की मौत हैरान करने वाला है। मैं राज्य सरकार और कांग्रेस कार्यकर्ताओं से अनुरोध करता हूं कि वे फौरन घटनास्थल पर मदद मुहैया कराएं। जिन लोगों ने इस दुर्घटना में अपने परिजनों को गंवाया है उनके प्रति मैं अपनी संवेदना जाहिर करता हूं। घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

8:50 PM: हादसे की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे पंजाब के कैबिनेट मंत्री ओपी सोनी के साथ लोगों ने हाथापाई की।

8:45 PM : प्रधानमंत्री मोदी ने ट्वीट कर कहा, अमृतसर में हुई रेल दुर्घटना को लेकर बहुत दुखी हूं। यह घटना हृदयविदारक है। मृतकों के परिवारों के प्रति मेरी पूरी सहानुभूति है, और प्रार्थना कर रहा हूं कि जो लोग इसमें घायल हुए हैं, वे जल्द से जल्द स्वस्थ हो जाएं। मैंने अधिकारियों को सभी आवश्यक सहायता मुहैया कराने को कहा है।

8:35 PM : गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने ट्वीट कर दुख जताया है। उन्होंने, कहा कि पंजाब में दशहरा त्योहार के दौरान हुए ट्रेन हादसे में लोगों की बहुमूल्य जानें चली गई हैं। मृतकों के परिजनों के साथ पूरी सहानुभूति प्रकट करता हूं और घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।

8:30 PM: पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह ने घटना को लेकर दुख जताया है। उन्होंने कहा कि सभी सरकारी और निजी अस्पतालों को घायलों के इलाज के लिए खुला रखने को कहा गया है। जिला प्रशासन को उचित कदम उठाने को कहा गया है। मुख्यमंत्री मौके का जायजा लेने के लिए अमृतसर जा रहे हैं। उन्होंने मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपये का मुआवजा देने का ऐलान किया है। घायलों के मुफ्त इलाज का भी ऐलान किया गया है।

8:15 PM: पुलिस कमिश्नर एसएस श्रीवसातव ने कहा," इस हादसे में 50 से ज्यादा लोगों की मौत हुई है। लोगों को वहां से निकाला जा रहा है और घायलों को अमृतसर के अस्पतालों में भेजा गया है।" घटना स्थल से हृदयविदारक तस्वीरें आ रही हैं। ट्रैक के आसपास खून ले लथपथ लाशें बिखरी पड़ी हैं।

8:10 PM: घटनास्थल पर मौजूद चश्मदीद बता रहे हैं कि ट्रेन की स्पीड बहुत ज्यादा थी जबकि शहर के बीच इसकी रफ्तार कम होनी चाहिए।

8:05 PM: एक चश्मदीद ने कहा, "ये प्रशासन और दशहरा समिति की गलती हैं, जब ट्रेन आ रही थी तो उन्हें अलार्म बजाना चाहिए था, उन्हें यह सुनिश्चित करना चाहिए था कि ट्रेन रुक जाए या धीमा हो।"