दैनिक भास्कर हिंदी: नोएडा में दुकानें खुलने को लेकर व्यापार मंडल में असमंजस

May 21st, 2020

हाईलाइट

  • नोएडा में दुकानें खुलने को लेकर व्यापार मंडल में असमंजस

गौतमबुद्धनगर, 21 मई (आईएएनएस)। उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्धनगर (नोएडा) में गुरुवार से ऑड-ईवन फॉर्मूले के अनुसार दुकानों को खोलने की इजाजत दे दी गई है। जिले में कुछ जगह दुकानें खुली है, तो वहीं कई इलाकों में कंटेनमेंट जोन होने की वजह से दुकानें खुलने में परेशानी आ रही है। स्थानीय व्यापार मंडल संगठन प्रशासन के इस फॉर्मूले से असमंजस में पड़ गए हैं।

उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार प्रतिनिधिमंडल की नोएडा इकाई के सदस्य नरेश कुच्छल ने आईएएनएस से कहा, नोएडा के हरौला में 3 और ममूरा में 7 कोरोना के मरीज हैं। ऐसे में समझ नहीं आ रहा है कि क्या किया जाए। खुला है और क्या बंद है, यह कहना मुश्किल है। मैंने बुधवार को हुई बैठक में मांग रखी थी की एक गली में एक तरफ की दुकानों को एक दिन खोला जाएं और दूसरे दिन दूसरी तरफ की दुकानें खोली जाएं। नोएडा के हरौला में दुकानों पर नंबरिंग कौन करेगा? व्यापारी मंडल के व्यापारी नेता अपनी दुकानों को देखेगा या बाजारों में नंबरिंग कराएगा?

उन्होंने कहा कि हरौला में एक समस्या और भी है कि किसी व्यक्ति का गोदाम कहीं है और दुकान कहीं और। किसी की दो दुकानें एक साथ हैं। वह एक दुकान खोले या दोनों, यह समझ में नहीं आ रहा है।

नोएडा में आज कुछ दुकानें खुली हैं और बहुत से दुकानदारों ने अपने आप ही नंबरिंग कर ली है।

उन्होंने कहा, हम अभी एक बैठक करेंगे व्यापार मंडल की, उसके बाद हम कुछ तय करेंगे। हमारी दुकानें गांव-देहात में होने की वजह से अनऑथराइज्ड दुकानें हैं, इसमें कैसे नंबरिंग होगी?

आईएएनएस ने नोएडा सेक्टर-18 और 27 स्थित अट्टा मार्केट में एक लांड्री की दुकान चलाने वाले हर्ष से बात की तो उन्होंने बताया, पहले पूरी दुकान का सेनिटाइजेशन कराएंगे और जो भी कपड़ा हमारे पास आएगा लांड्री के लिए तो हम पहले उस कपड़े को डिसइफेक्ट करेंगे, उसके बाद ही कोई उस कपड़े को देखेगा।

जूते की दुकान चलाने वाले एक दुकानदार ने कहा, आज तो सिर्फ सफाई करा रहे हैं। ग्रहाक आ रहे हैं, लेकिन हम एक दो दिन बाद ही ो दुकान चालू करेंगे। उम्मीद है, भविष्य में अच्छा रिस्पॉन्स मिलेगा।

बुधवार की देर रात दुकानों को लेकर गाइडलाइंस जारी की गई थीं, जिसके तहत जिले में बाजारों की दुकानें ऑड-ईवन फॉर्मूले पर खोली जा सकेंगी। जिला प्रशासन ने सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के पालन को ध्यान में रखते हुए यह नया तरीका निकाला है।

प्रशासन के अनुसार, इस फॉर्मूले के अंतर्गत शहरी क्षेत्रों की दुकानें ऑड-ईवन के आधार पर, जबकि ग्रामीण क्षेत्र में दुकानें रोज खुलेंगी। सभी दुकानें सुबह 7 से शाम 7 तक ही संचालित होंगी।