comScore

पूर्व आईएएस और सेना के अधिकारियों ने राजस्थान में बढ़ते अपराधों पर राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

October 16th, 2020 17:01 IST
 पूर्व आईएएस और सेना के अधिकारियों ने राजस्थान में बढ़ते अपराधों पर राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

हाईलाइट

  • पूर्व आईएएस और सेना के अधिकारियों ने राजस्थान में बढ़ते अपराधों पर राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

जयपुर, 16 अक्टूबर (आईएएनएस)। राजस्थान में अपहरण, दुष्कर्म और सामूहिक दुष्कर्म जैसी बढ़ती घटनाओं को लेकर प्रबुद्धजनों ने राज्यपाल कलराज मिश्र को ज्ञापन सौंपा है। ज्ञापन सौंपने वालों में प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों के 37 प्रतिष्ठित लोग शामिल हैं। इनमें पूर्व कुलपति, पूर्व आईएएस-आईपीएस, सेना के पूर्व अधिकारी, पूर्व आयकर आयुक्त और सरकार के विभिन्न आयोगों में अध्यक्ष रह चुके लोग शामिल हैं।

इन लोगों ने राज्यपाल से प्रदेश में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए हस्तक्षेप करने की मांग की है।

ज्ञापन में उल्लेख किया गया कि राष्ट्रीय क्राइम रिकॉर्ड ब्यूरो के अनुसार, महिलाओं के साथ हो रहे अपराधों में और दुष्कर्म संबंधी अपराधों में राजस्थान क्रमश पहले एवं दूसरे स्थान पर आ गया है। प्रदेश की बहन-बेटियां असुरक्षित महसूस कर भय के वातावरण में जीवन व्यतीत कर रही हैं और पुलिस-प्रशासन इन सभी घटनाओं पर आंख बंद करके बैठा है। इससे पूरा समाज चिंतित है। प्रबुद्ध वर्ग ने राज्य सरकार को असंवेदनशील करार दिया है।

ज्ञापन में पिछले दिनों प्रदेश में हुई कई घटनाओं का उल्लेख किया गया है। इसमें कहा गया है कि सीकर में कक्षा आठवीं में पढ़ने वाली 15 वर्षीय बालिका के साथ दुष्कर्म हुआ। उसका वीडियो बनाया गया और उसे सोशल मीडिया पर वायरल करने की धमकी के साथ अन्य लोगों ने भी दुष्कर्म किया। इसके अलावा सिरोही की नाबालिग लड़की के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म का भी जिक्र किया गया है। वहीं बारां जिले में दो नाबालिग बहनों का अपहरण कर सामूहिक दुष्कर्म की घटना का भी जिक्र किया गया है।

ज्ञापन में बाड़मेर के मंदिर के पुजारी बाबूलाल वैष्णव को कथित तौर पर जिंदा जलाकर उसकी भीषण हत्या का भी उल्लेख किया गया है।

पूर्व कुलपति बी. आर. छीपा ने कहा कि बढ़ते अपराधों के मामले में राज्यपाल को हस्तक्षेप करना चाहिए, ताकि लोग बिना किसी डर के शांति से रह सकें।

एकेके/एएनएम

कमेंट करें
52Wn9