comScore

दिल्ली में कोरोना: मनीष सिसोदिया बोले- 31 जुलाई तक हो सकते हैं साढ़े पांच लाख केस

दिल्ली में कोरोना: मनीष सिसोदिया बोले- 31 जुलाई तक हो सकते हैं साढ़े पांच लाख केस

हाईलाइट

  • कोरोना संक्रमण के प्रसार के मद्देनजर राजधानी में हुई डीडीएमए की बैठक
  • उपराज्यपाल अनिल बैजल, डिप्टी CM मनीष सिसोदिया, मंत्री सतेंद्र जैन रहे मौजूद

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राष्ट्रीय राजधानी में कोरोना वायरस ने जमकर कोहराम मचा रखा है। कोरोना के कम्युनिटी स्प्रेड के खतरे को लेकर दिल्ली में मंगलवार को उपराज्यपाल अनिल बैजल की अगुवाई में डीडीएमए (DDMA) की बैठक हुई। इसमें डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया और स्वास्थ्य मंत्री सतेंद्र जैन भी मौजूद रहे। बैठक के बाद मनीष सिसोदिया ने कहा, अगर संक्रमण के मामले इसी तरह से बढ़ते रहे तो 31 जुलाई तक 5 लाख से अधिक यानी साढ़े पांच लाख तक कोरोना के केस हो सकते हैं।

31 जुलाई तक होंगे 5.5 लाख मामले, 80 हजार बेड की जरूरत
डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के मुताबिक, दिल्ली में 15 जून तक 44 हजार मामले होंगे और 6,600 बेड की आवश्यकता होगी। 30 जून तक 1 लाख तक मामले पहुंच जाएंगे और 15 हजार बेड की आवश्यकता होगी। 15 जुलाई तक 2.25 लाख मामले होंगे इसके लिए 33 हजार बेड की जरूरत होगी। 31 जुलाई तक 5.5 लाख मामलों की उम्मीद है और 80 हजार बेड की जरूरत होगी।

एलजी के फैसले से दिल्लीवालों के सामने संकट
डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा, दिल्ली सरकार ने दिल्ली में सिर्फ दिल्ली के लोगों के इलाज का फैसला लिया था। इसका पलटा जाना ठीक नहीं है। उन्होंने कहा, बैठक में मैंने दिल्ली के अस्पतालों को सभी मरीजों के लिए खोलने का मामला उठाया और एलजी से इस पर सवाल भी पूछा कि, सरकार के फैसले को क्यों पलटा गया। इस पर राज्यपाल कोई जवाब नहीं दे पाए। सिसोदिया ने कहा, एलजी के फैसले से दिल्लीवालों के सामने बड़ा संकट खड़ा हो गया है।

Coronavirus in India: देश में 24 घंटे में 9987 नए केस, 331 की मौत, मरीजों की संख्या 2 लाख 66 हजार के पार

कमेंट करें
Vs7N0