दैनिक भास्कर हिंदी: इन देशों में भी महिलाओं ने उठाया रक्षा मंत्रालय का जिम्मा, ये हैं वो देश

September 4th, 2017

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। रविवार को हुए मोदी कैबिनेट के विस्तार में निर्मला सीतारमण देश की पहली पूर्णकालिक रक्षा मंत्री बनई गई हैं। इससे पहले, प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने दो बार 1975 और 1980-82 में इस पोर्टफोलियो को संभाला, लेकिन वो पूर्णकालीन रक्षा मंत्री नहीं थीं। लेकिन निर्मला सीतारमन कोई पहली महिला नहीं जिन्हे देश की रक्षा का प्रभार सौंपा गया है। अन्य बहुत से देश है जहां रक्षा मंत्रालय की कमान महिला के हाथों में सौंपी गई है। पूरे विश्व में अब तक 90 महिलाएं रक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी संभाल चुकी हैं।

विश्व की पहली रक्षा मंत्री
हमारे पड़ोसी  देश श्रीलंका भारत से लगभग 15 साल पहले ही 1960 में सिरिमावो भंडारनायके को रक्षा मंत्री बनाकर इतिहास रचा था। चूंकि समझा जाता है कि रक्षा करना सिर्फ पुरुषों का ही काम है लेकिन महिलाओं ने इस क्षेत्र में बेहतर काम करके इस मिथ को तोड़ दिया है। मौजूदा समय में भारत सहित कुल 16 देश अब भी ऐसे हैं जंहा महिलाएं रक्षा मंत्रालय संभाल रहीं हैं।

फ्रांस
फ्रांस में हाल ही में हुए चुनावों के बाद 21 जून 2017 को  फ्लोरेंस पार्ली को फ्रांस के रक्षा मंत्रालय का जिम्मा सोंपा गया है। राष्ट्रपति इमैनुअल मैकरॉन की सरकार में रक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी संभालने वाले मंत्री पर भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद पार्ली को ये जिम्मेदारी सौंपी गई। अब तक वो रक्षा मंत्री के तौर पर 74 दिन का सफर तयकर चुकी  हैं।

बांग्लादेश
भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश में पिछले 4 दशकों से शेख हसीना ने रक्षा मंत्री की कमान संभाली हुई है और वो देश की प्रधानमंत्री होने के साथ-साथ रक्षा मंत्री भी हैं। देखा जाए तो रक्षा मंत्री के तौर पर शेख हसीना ने सबसे लंबा सफर तय किया है। 6 जनवरी 2009 को उन्होंने ये कमान अपने हाथ ली थी और अब 8 साल 240 दिन बीत जाने के बाद भी वो अपनी जिम्मदारी बखूबी संभाल रहीं है।

इटली
इस देश में 22 फरवरी 2014 से रॉबर्टा पिनोट्टी रक्षा मंत्री के पद पर तैनात हैं। पिनोट्टा हाल में अंग्रेजी में मंत्रालय का प्रचार जारी करने के लिए विवादों में आई थीं। अब तक 3 साल 193 दिन का कार्यकाल वो पूरा कर चुकीं हैं।
 
ऑस्ट्रेलिया
ऑस्ट्रेलिया की लिबरल पार्टी से सिनेटर मरीस एन पेन को टर्नबुल सरकार ने 2015 में रक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी दी। इससे पहले मरीस पेन पिछली दो सरकारों में ह्यूमन रिसोर्स मंत्री के पद पर रह चुकीं हैं। 21 सितंबर 2015 को उन्हे ये पदभार सौंपा गया अब तक 1 साल 347 दिन का सफर वो तय कर चुकीं हैं।

स्पेन
स्पेन के प्रधानमंत्री मारियानो राजॉय द्वारा 4 नवंबर 2016 में मारिया डोलोरेस को रक्षा मंत्री बनाया था। मारिया डोलोरेस दि कोस्पेदाल सत्तारूढ़ पीपुल्स पार्टी की सेक्रेटरी जनरल भी थीं। अब तक वो 303 दिन इस पदभार को संभाल चुकी हैं।

नार्वे
नार्वे में इने मरीन एरीक्सन को रक्षा मंत्री बनाया गया। 16 अक्टूबर 2013 में उनको ये कमान मिली और अब तक वो इस पद पर बनी हुई हैं। 3 साल 322 दिन वो रक्षा मंत्री के तौर पर पूरे कर चुकी हैं।

स्लोवेनिया
यूरोपीय देश स्लोवेनिया में एंद्रेजा कटिक के पास देश की सुरक्षा का जिम्मा है। एंद्रेजा ने हाल ही में ईराक के एर्बिल शहर में आईएसएस लड़ाकों से लड़ने के लिए देश की सेना को लगाने का आदेश दिया था। उन्हे 13 मई 2015 को रक्षा मंत्रालय दिया गया था अब तक वो 2 साल 113 दिन का सफर तय कर चुकी हैं।

जर्मनी
जर्मनी में 17 दिसंबर 2013 को ओजोला फर्द वॉन लायेन को रक्षा मंत्री की जिम्मेदारी दी गई। 3 साल 260  दिनों से वो इस पद पर बनी हुई हैं। इससे पहले वह लेबर सहित महिला और बाल विकास मंत्री रह चुकी हैं।

नीदरलैंड्स
नीदरलैंड्स जैसा छोटा देश भी महिला को रक्षा मंत्रालय सौंप चुका है। नीदरलैंड में जैनी हैनिस को 5 नवंबर 2012 को रक्षा मंत्रालय की जिम्मेदारी सौंपी गई थी। अब तक वो 4 साल 302 दिन का कार्यकाल पूरा कर चुकी हैं।

जापान
जापान में भी टोमोमी इनाडा ने रक्षा मंत्री का पद संभाला है। उन्होंने 2017 में हालांकि उन पर शांति रक्षा अभियानों से सेना के दस्तावेजों को छिपाने के आरोप लगे थे। इस वजह से उन्होंने 28 जुलाई 2017 को इस्तीफा दे दिया था।

खबरें और भी हैं...