comScore

तीन वैज्ञानिकों को मिला चिकित्सा का नोबेल, खोज से मिलेगी एनीमिया-कैंसर के इलाज में मदद

October 08th, 2019 08:20 IST
तीन वैज्ञानिकों को मिला चिकित्सा का नोबेल, खोज से मिलेगी एनीमिया-कैंसर के इलाज में मदद

हाईलाइट

  • तीन वैज्ञानिकों मिला चिकित्सा का नोबेल पुरस्कार
  • 14 अक्टूबर तक होगी बाकी क्षेत्रों के लिए घोषणा

डिजिटल डेस्क,नई दिल्ली। दुनिया के प्रतिष्ठित नोबेल पुरस्कार की घोषणा सोमवार से शुरू हो गई है। इस बार चिकित्सा के नोबल पुरस्कार के लिए तीन वैज्ञानिकों को सामूहिक रूप से चुना गया है। यह पुरस्कार अमेरिका के विलियम जी.केलिन जूनियर, ग्रेग सेमेन्जा और ब्रिटेन के सर पीटर जे. रैटक्लिफ को दिया जाएगा। बता दें कि मंगलवार को भौतिकी और 14 अक्टूबर तक कुल 6 क्षेत्रों में नोबेल पुरस्कार विजेताओं के नामों का ऐलान होगा।

तीनों विज्ञानिकों की खोज
इस वर्ष के चिकित्सा नोबेल पुरस्कार प्राप्त तीनों वैज्ञानिको ने पता लगाया है कि ऑक्सीजन का स्तर किस तरह हमारे मेटाबोलिज्म और शारीरिक गतिविधियों को प्रभावित करता है। इस खोज एनीमिया, कैंसर और अन्य बीमारियों के उपचार में मदद मिलेगी।

चिकित्सा नोबेल से जुड़ी खास बात
साल 1901 से 2018 के बीच कुल 216 लोगों को चिकित्सा नोबेल से सम्मानित किया गया है। अबतक कुल 12 महिलाओ को मेडिसिन में नोबेल दिया गया है। फ्रेडरिक जी. बैंटिंग (32) सबसे युवा चिकित्सा पुरस्कार पाने वाले वैज्ञानिक है। वहीं पेटोन राउस (87) सबसे बुजुर्ग चिकित्सा पुरस्कार पाने वाले वैज्ञानिक है। 

क्या मिलता है नोबेल पुरस्कार में ?
नोबेल पुरस्कार विजेता को साढ़े चार करोड़ रुपए राशि दी जाती है। वहीं 23 कैरेट सोने से बना 200 ग्राम का मेडल और सर्टिफिकेट दिया जाता है। पदक के एक तरफ अल्फ्रेड नोबल की छवि, उनका जन्म और मृत्यु की तिथि लिखी होती है। जबकि दूसरी तरफ यूनानी देवी आइसिस का चित्र, रॉयल एकेडमी ऑफ सांइस स्टॉकहोम और पुरस्कार पाने वाले व्यक्ति की जानकारी होती है।

भारतीय नोबेल पुरस्कार विजेता
- रवींद्रनाथ टैगौर (साहित्य) 1913
- चंद्रशेखर वेंकटरमन (विज्ञान) 1930
- मदर टेरेसा (शांति) 1979
- अमत्य सेन (अर्थशास्त्र) 1998
- कैलाश सत्यार्थी (शांति) 2014

नोबेल पुरस्कारों की घोषणा का कार्यक्रम
- भौतिकी : 8 अक्टूबर
- रसायन शास्त्र : 9 अक्टूबर
- साहित्य : 10 अक्टूबर
- शांति : 11 अक्टूबर
- अर्थशास्त्र : 14 अक्टूबर

कमेंट करें
kLdsg