दैनिक भास्कर हिंदी: इंसानियत फिर शर्मसार, शव को एंबुलेंस का इंतजार

July 27th, 2017

डिजिटल डेस्क, राजनांदगांव

राजनांदगांव में इंसानियत को शर्मसार करने वाली तस्वीरें सामने आई हैं। जहां परिजनों को अपनी नाबालिग लड़की के शव को ले जाने के लिए ठेले का सहारा लेना पड़ा। मामला राजनांदगांव मेडिकल कॉलेज का है, जहां एक छात्रा के आत्मदाह करने के बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए लाया गया था। पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को शव ले जाने के लिए शव वाहन नहीं दिया गया। जिसके बाद उन्हें शव को मजबूरन ठेले पर ले जाना पड़ा। खबर लगते ही अस्पताल प्रबंधन ने आनन-फानन में शव वाहन भेजा, लेकिन परिजनों ने शव वाहन का उपयोग करने से मना कर दिया। इससे पहले भी ऐसा ही मामला सामने आया था जब शव वाहन नहीं मिलने से परिजन शव को कंधे पर ले गए थे। 

पिछले साल ओडिशा के कालाहांडी की तस्वीरों ने पूरे देश को झकझोर दिया था, जब दाना मांझी नाम का एक शख्स अपनी पत्नी के शव को ढोकर मीलों चलता रहा। इस दौरान उसकी बेटी रास्ते भर सुबकती रही। इस मामले में भी अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही सामने आई थी।