दैनिक भास्कर हिंदी: गाजीपुर में बोले PM मोदी...चौकीदार की वजह से ही उड़ी चोरों की नींद

December 29th, 2018

हाईलाइट

  • पीएम मोदी शनिवार को बनारस और गाजीपुर का दौरा करेंगे
  • बनारस में पीएम मोदी करेंगे कई प्रोजेक्टों का शिलान्यास
  • पीएम मोदी का यह दो महीनों में दूसरा बनारस दौरा होगा

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को एक दिन के दौरे पर गाजीपुर पहुंचे और गांजीपुर मेडिकल कॉलेज की आधारशिला रखी। पीएम मोदी ने एक डाक टिकिट भी जारी किया, जो कि महाराजा सुहेलदेव पर आधारित है। मोदी ने इस दौरान एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि चौकीदार के कारण चोरों की नींद उड़ गई है। 

इससे पहले पीएम ने वाराणसी का भी दौरा किया। इस दौरान उन्होंने छठे इंटरनेशनल राइस रिसर्च इंस्टीट्यूट (IRRI), साउथ एशिया रीजनल सेंटर (ISARC) का उद्घाटन भी किया। यह सेंटर बनारस के नेशनल सीड रिसर्च एंड ट्रेनिंग सेंटर (NSRTC) के कैम्पस में शुरू होगा। बता दें कि वाराणसी में यह पीएम मोदी का कुल मिलाकर 16वां और पिछले दो महीनों में दूसरा दौरा होगा।

एक तरफ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र बनारस के साथ ही गाजीपुर का दौरा किया तो दूसरी तरफ उनके दौरे में एनडीए के सहयोगी ओमप्रकाश राजभर और अनुप्रिया पटेल उनके कार्यक्रम में शामिल नहीं हुए। बता दें कि गाजीपुर में अपना प्रभाव रखने वाले सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर और अनुप्रिया पटेल की पार्टी अपना दल (एस) के चीफ आशीष पटेल भाजपा से नाराज चल रहे हैं। दोनों दलों का आरोप है कि राज्य की भाजपा सरकार उन्हें तवज्जो नहीं दे रही है।

 

 

 

पीएम मोदी ने वाराणसी में दीनदयाल हस्तकला संकुल में 'वन डिस्ट्रिक्ट, वन प्रोडक्ट' रीजनल समिट में भी भाग लिया। यह समिट ट्रेड फेसिलिटेशन सेंटर एंड क्राफ्ट म्यूजियम में आयोजित हुई।

 

 

वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना

वन डिस्ट्रिक्ट वन प्रोडक्ट योजना का उद्देश्य स्थानीय लोगों के कौशल को बढ़ाना और राज्य के छोटे शहरों और छोटे जिलों के उत्पादों की पहुंच को बढ़ाना है। इसमें हैंडीक्राफ्ट, फूड प्रोसेसिंग, इंजीनियरिंग के सामान, कालीन और कपड़े इत्यादि सामान शामिल हैं। यह सभी न केवल विदेशी करंसी हासिल करने में मदद करती है, बल्कि लोगों को रोजगार भी प्रदान करती है। 

IRRI से चावल के उत्पादन और क्वालिटी में होगा सुधार

IRRI का मुख्य उद्देश्य चावलों पर रिसर्च करना और ट्रेनिंग का होगा। यह पूर्वी भारत का पहला अंतर्राष्ट्रीय केंद्र है। इस सेंटर के खुल जाने से इस क्षेत्र में चावल के उत्पादन को बनाए रखने में बहुत मदद मिलेगी। इससे पहले पीएम मोदी ने नवंबर 2017 में फिलीपींस के मनीला में मौजूद IRRI मुख्यालय का दौरा भी किया था। पीएम मोदी ऐसा करने वाले पहले भारतीय प्रधानमंत्री हैं।

पीएम के दौरे को लेकर प्रशासन सतर्क

पीएम मोदी के दौरे को लेकर स्थानीय प्रशासन ने काफी तैयारी की है। प्रशासन के मुताबिक पीएम की सुरक्षा व्‍यवस्‍था के लिए 10 एसपी के अलावा 15 एएसपी, 28 डिप्‍टी एसपी, दो सौ सब इंस्‍पेक्‍टर, 1900 सिपाही समेत कई एजेंसियों के अधिकारी तैनात किए थे।

खबरें और भी हैं...