दैनिक भास्कर हिंदी: 27 मई को PM मोदी करेंगे दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे का उद्घाटन, जानें क्या है खासियत

May 25th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। मेरठ-दिल्ली एक्सप्रेस वे के पहले चरण का काम पूरा हो चुका है। इस एक्सप्रेस वे से दिल्ली गाजियाबाद के बीच रोजाना यात्रा करने वाले मुसाफिरों को बड़ी राहत मिल जाएगी। साथ ही साथ दिल्ली- मेरठ के बीच यात्रा करने वालो को भी राहत मिलेगी। केंद्रीय परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने बताया कि 90 किलोमीटर लंबा दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे दिल्ली, मेरठ, गाजियाबाद और नोएडा के लोगों के लिए बेहद मददगार साबित होगा। इससे प्रदूषण भी कम हो जाएगा। मार्च 2019 तक काम पूरा हो जाएगा, जिसके बाद दिल्ली से मेरठ की दूरी महज 40 मिनट में तय की जा सकेगी।

 

 

 

 

 

पीएम नरेंद्र मोदी 27 मई यानी रविवार को दिल्ली और मेरठ के बीच एनएच 24 का उद्घाटन करेंगे। इसके साथ ही पीएम प्रगति मैदान से यूपी गेट तक रोड शो करेंगे। पीएम का रोड शो 7 किलोमीटर लंबा होगा। प्रगति मैदान से गाजीपुर (यूपी गेट) तक दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे का पहला चरण बन कर तैयार है। पीएम मोदी खुली जीप में 7 किलोमीटर लंबा रोड शो करेंगे।

 

 



एनएच 24 की खासियत

 

- दिल्ली-मेरठ हाइवे दिल्ली से डासना तक 14 लेन का है
- डासना से मेरठ तक यह हाइवे 6 लेन का हो जाएगा
- दिल्ली मेरठ हाईवे का काम 15 महीने में पूरा किया गया है
- हाइवे को बनाने के लिए 30 महीने का टारगेट रखा गया था
- इस हाइवे के दोनों तरफ वर्टिकल गार्डन विकसित किया गया है
- सड़क के दोनों तरफ ढाई मीटर का साइकल पाथ भी बनाया गया है
- दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे पर सोलर सिस्टम से लैस लाइटें लगी हैं
- इस एक्सप्रेस वे पर कुतुब मीनार, अशोक स्तंभ जैसे पुरातत्व विरासतों के स्मारक चिह्न भी स्थापित किए गए हैं
- एक्सप्रेस वे के बनने के बाद 45 मिनट में दिल्ली से मेरठ पहुंच सकेंगे
- एक्सप्रेस वे को बनाने में 842 करोड़ की लागत आई है
- इस हाइवे पर 5 फ्लाईओर हैं और 4 अंडरपास हैं
- 4 फुटओवर ब्रिज भी इस एक्सप्रेसवे पर बने हैं, एक्सप्रेस वे सिग्नल फ्री है


एक्सप्रेसवे का उद्घाटन करने के बाद पीएम मोदी बागपत के खेखडा में 1 लाख लोगों की रैली को भी संबोधित करेंगे। इस कार्यक्रम में पीएम मोदी के अलावा परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल समेत कई केंद्रीय मंत्री मौजूद रहेंगे। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी आमंत्रित किया जाएगा। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे का दिल्ली में 8.7 किलोमीटर हिस्सा है, जबकि गाजियाबाद में 42 किलोमीटर का हिस्सा आता है। इसके बाद डासना के पास यह एक्सप्रेस-वे इस्टर्न पेरीफेरल एक्सप्रेस-वे से मिल जाएगा। पहले दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस-वे के उद्घाटन के लिए पीएमओ की ओर से अप्रैल माह में समय मिला था, लेकिन तब तक इसका काम पूरा नहीं हो सका था, इसलिए यह टल गया था।