comScore

राम मंदिर: अयोध्या भूमि पूजन से पहले असम के दो जिलों में भी बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिसबल तैनात

राम मंदिर: अयोध्या भूमि पूजन से पहले असम के दो जिलों में भी बढ़ाई गई सुरक्षा, पुलिसबल तैनात

हाईलाइट

  • अयोध्या भूमि पूजन से पहले असम के 2 जिलों में बढ़ाई गई सुरक्षा

डिजिटल डेस्क, सिलचर। उत्तर प्रदेश के अयोध्या में बुधवार को राम मंदिर के भूमि पूजन समारोह के मद्देनजर असम के दो दक्षिणी जिलों कछार और करीमगंज में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। मंगलवार को अधिकारियों ने कहा कि स्थिति की निगरानी के लिए कार्यकारी मजिस्ट्रेट नियुक्त किए गए हैं। वहीं केंद्रीय पुलिस और राज्य सुरक्षा बलों को वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के नेतृत्व में कछार और करीमगंज जिलों में तैनात किया गया है।

एक अधिकारी ने कहा कि कछार जिला मजिस्ट्रेट कीर्ति जल्ली ने मिश्रित आबादी वाले जिले में हर तरह की स्थिति पर नजर रखने के लिए चार कार्यकारी मजिस्ट्रेट नियुक्त किए हैं। अधिकारी ने कहा, चार कार्यकारी मजिस्ट्रेट सिलचर पुलिस थाना क्षेत्र समेत सात पुलिस स्टेशनों के तहत आने वाले विशेष क्षेत्रों की निगरानी करेंगे। किसी भी तरह की स्थिति से निपटने के लिए ये मजिस्ट्रेट उचित कदम उठाएंगे।

सिलचर शहर के कुछ इलाकों में दो समुदायों के बीच पथराव की घटनाओं के बाद यहां सोमवार से अनिश्चितकालीन कर्फ्यू लगा दिया गया है। ऐसी ही तैयारी पड़ोसी जिले करीमगंज में की गई है। करीमगंज के जिला मजिस्ट्रेट अंबामुथन एम.पी. ने मंगलवार को जिले में शांति बनाए रखने के लिए वरिष्ठ नागरिकों, विभिन्न राजनीतिक दलों के नेताओं, सामाजिक कार्यकर्ताओं और गैर सरकारी संगठनों के नेताओं के साथ एक बैठक की थी।

जिलाधिकारी ने बैठक में कहा, जिले में बुधवार को किसी भी तरह की सार्वजनिक सभा और रैलियां करने की अनुमति नहीं दी जाएगी। करीमगंज जिला पुलिस प्रमुख कुमार संजीत कृष्णा ने कहा कि सोशल मीडिया पर कोई भी भड़काऊ अभियान चलाने या ऐसी पोस्ट करने पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि दक्षिणी असम के बराक घाटी क्षेत्र में विभिन्न धर्मों और समुदायों के लोग रहते हैं जिनमें तीन जिले कछार, करीमगंज और हैलाखंडी शामिल हैं।

कमेंट करें
LwBcb