दैनिक भास्कर हिंदी: #दिल्ली प्रदूषण: पराली जलाने पर SC की रोक, केन्द्र को जारी किया नोटिस

November 13th, 2017

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। दिल्ली-NCR में फैले जहरीले प्रदूषण को लेकर SC ने केंद्र सरकार के साथ दिल्ली, यूपी, पंजाब और हरियाणा सरकार को नोटिस जारी किया है। SC ने एमसीडी को भी नोटिस जारी किया है। इसी के ही साथ SC ने कहा है कि दिल्ली-NCR में हालात बहुत बुरे हैं यह स्वास्थय का सवाल है इस मामले में जल्द ही कार्रवाई होनी चाहिए। साथ ही कोर्ट ने पराली जलाने और सडकों की धूल से होने वाले प्रदूषण पर रोक के निर्देश देने के लिये इन सभी सरकारों से जवाब मांगा है। दिल्ली-एनसीआर में बढ़ते प्रदूषण पर रोक लगाने के लिए जल्द कदम उठाने की मांग करने वाली याचिका पर यह सुनवाई की गई है। 

गौरतलब है कि वकील आर के कपूर ने दिल्ली में बढ़ते वायु प्रदूषण को लेकर एक याचिका डाली थी। कपूर ने याचिका में मांग की थी कि SC दिल्ली सरकार को ऑड-ईवन फॉर्मूले पर दोबारा विचार करने का आदेश दें। इसके साथ ही याचिका में यह भी कहा गया है कि SC केंद्र सरकार को आदेश दे कि हरियाणा, पंजाब और उत्तर प्रदेश के किसान द्वारा पराली को जलाए जाने पर रोक लगे। इसी के साथ ही ऐसे प्रोजेक्ट बनाए जाएं, जहां पराली को जलाने की जगह उसका उपयोग किन्हीं  दूसरे काम में हो जाए ताकि किसान पराली न जलाएं। 

इतना ही नहीं कपूर ने याचिका में एयर पॉल्यूशन को कम करने के लिए ई-रिक्शा और इलेक्ट्रिक से चलने वाले वाहनों के प्रयोग को बढ़ावा देने का भी आग्रह किया था। पॉल्यूशन के मुद्दे को अहम मानते हुए चीफ जस्टिस दीपक मिश्रा ने कहा कि हम प्रदूषण के अहम मुद्दे को नजरअंदाज नहीं कर सकते। उन्होंने कहा कि वह पहले से सूचीबद्ध मुकदमों के बाद इस मामले पर आज ही सुनवाई करेगी।

बता दें कि सर्दी का मौसम आने से पहले पड़ोसी राज्य हरियाणा और पंजाब के किसान अपने खेतों की पराली जाला देते हैं। जिस कारण दिल्ली में स्मॉग की समस्या पैदा हो जाती है। पराली जलाए जाने के मामले का समाधान निकालने के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पंजाब और हरियाणा की सरकारों को चिट्ठी लिखी थी। हालांकि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केजरीवाल से मिलने से इनकार कर दिया। उन्होंने इस मामले में केंद्र सरकार से दखल दिए जाने की मांग की थी।

69 ट्रेनें लेट, 8 कैंसिल
 
पॉल्यूशन और स्मॉग का सबसे ज्यादा असर यातायात पर पड़ा है। बताया जा रहा है कि स्मॉग की वजह से 69 ट्रेनें लेट हो सकती हैं, जबकि 8 ट्रेनों को कैंसिल कर दिया गया है। इसके साथ ही 22 ट्रेनों के टाइम में बदलाव किया गया है। बताया ये भी जा रहा है कि स्मॉग की वजह से फ्लाइट पर भी इसका असर पड़ा है। वहीं कई जगहों पर रोड एक्सीडेंट के मामले भी सामने आए हैं।