comScore

 26 यात्री गाड़ियों में अब सतना-कटनी के बीच दौड़ेंगे डबल इंजन -आदेश जारी

 26 यात्री गाड़ियों में अब सतना-कटनी के बीच दौड़ेंगे डबल इंजन -आदेश जारी

डिजिटल डेस्क,सतना। मुंबई-हावड़ा रेल खंड के सतना-कटनी जंक्शन के बीच 13  सिंतबर से 26 यात्री गाड़ियां डबल इंजन पर दौड़ेंगी। जबलपुर रेल जोन के सीपीटीएम आरडी मीणा ने इस संबंध में आदेश जारी कर दिए हैं।  कटनी -सतना जंक्शन के बीच रेल परिचालन की नई व्यवस्था के तहत इलाहाबाद की ओर से  कटनी की तरफ जाने वाली 13 जोड़ा चिन्हित गाड़ियों में बिजली इंजन के साथ यहां डीजल इंजन भी लगाया जाएगा। यही डीजल इंजन गाड़ी को कटनी लेकर जाएगा। कटनी में डीजल इंजन अलग कर दिया जाएगा और फिर इलेक्ट्रिक इंजन के साथ गाड़ी आगे की यात्रा करेगी। इसी प्रकार कटनी की ओर से इलाहाबाद की ओर जाने वाली यात्री गाड़ी में इलेक्ट्रिक इंजन के साथ कटनी में डीजल इंजन लगाया जाएगा। ये इंजन सतना में अलग कर दिया जाएगा और फिर गाड़ी इलेक्ट्रिक इंजन के साथ गंतव्य के लिए प्रस्थान करेगी। 

आखिर,ऐसा क्यों 

रेल सूत्रों ने बताया कि सतना से कटनी के बीच 80 किलोमीटर पर रेल विद्युतीकरण का काम अधूरा होने के कारण बीच का रास्ता निकाला गया है। असल में सतना से इलाहाबाद के बीच रेल विद्युतीकरण पूरा हो जाने के बाद रेल प्रशासन अब इलेक्ट्रिक इंजन पर गाडिय़ां चलाने को बेताब है। रीवा-आनंदबिहार सुपर फास्ट में सतना से इलेक्ट्रिक इंजन लगाने की शुरुआत हो चुकी है। सतना से कटनी के बीच अभी भी डीजल इंजन पर ही लंबी दूरी की यात्री गाडिय़ों को चलाने की समस्या है। इसी तरह रीवा के बीच 50 किलोमीटर पर अभी विद्युतीकरण का काम नहीं हो पाया है।

चिन्हित की गईं 13 जोड़ा ट्रेन :

मुंबई-हावड़ा रेल मार्ग के सतना-कटनी जंक्शन के बीच जिन 13 जोड़ा ट्रेनों को डबल इंजन से दौड़ाया जाना है,उनमें  दानापुर -सिंकदराबाद , राजेन्द्रनगर -पटना जनता एक्सप्रेस, छत्रपति शिवाजी टर्मिनल से पटना , मुंबई-हावड़ा मेल ,  पुणे-दानापुर सुपरफास्ट, मुंबई-वाराणसी सीएसटी सुपर फास्ट, एलटीटी -वाराणसी कामायनी एक्सप्रेस,  एलटीटी- इलाहाबाद दूरंतो,  हावड़ा -इंदौर क्षिप्रा एक्सप्रेस, अहमदाबाद -इलाहाबाद एक्सप्रेस,  बांद्रा टर्मिनल-पाटिलीपुत्र सुपरफास्ट , बांद्रा टर्मिनल -सहरसा हमसफर एक्सप्रेस और  बड़ोदर -वाराणसी महामना एक्सप्रेस शामिल हैं। माना जा रहा है कि इन गाडिय़ों में सतना-कटनी के बीच तब तक मल्टी इंजन (इलेक्ट्रिक के साथ डीजल) अब तब तक दौड़ेंगे,जब तक की सतना -कटनी के बीच विद्युतीकरण का काम पूरा नहीं हो जाता है।  
 

कमेंट करें
Gey4f