comScore
Dainik Bhaskar Hindi

इन देशों में बिना वीजा के घूम सकते हैं भारतीय  

BhaskarHindi.com | Last Modified - September 01st, 2018 14:20 IST

8.6k
0
0


डिजिटल डेस्क । दुनिया में 200 से ज्यादा देश हैं और किसी भी देश की सीमा में दाखिल होने के लिए कई तरह के प्रोसिजर से गुजरना पड़ता है। हर देश के अपने नियम होते हैं और देश में दाखिल होने का भी प्रोसिजर अलग-अलग होता है। किसी भी दूसरे देश में जाना एक अलग अनुभव होता है। वहां की संस्कृति और लोगों के बारे में जानना हमें जीवन में बहुत कुछ सीखाता है। इसलिए जीवन में एक बार कोशिश कर किसी भी देश जरूर जाना चाहिए। आज हम आपको ऐसे देशों के बारे में बताने जा रहे हैं जहां भारतीय नागरिकों को जाने के लिए वीजा की जरूरत नहीं होती। आईए आज ऐसे ही देशों के बारे में जानते हैं।

थाइलैंड

यहां भारतीय नागरिक 35 डॉलर यानी करीब 2200 रुपये देकर वीजा ऑन अराइवल ले सकते हैं। इसकी पूर्वी सीमा पर लाओस और कम्बोडिया, दक्षिणी सीमा पर मलेशिया और पश्चिमी सीमा पर म्यानमार है। थाईलैण्ड की राजधानी बैंकाक है।

अल सल्वाडोर

यहां भी वीजा जरूरी नहीं है। ये मध्य अमेरिका में स्थित सबसे छोटा और सबसे सघन आबादी वाला देश है। राजधानी सान साल्वाडोर देश का सबसे महत्वपूर्ण महानगर है। एल साल्वाडोर ने अपनी मुद्रा कोलोन को खत्म कर साल 2001 में अमेरिकी डॉलर को अपना लिया है। 

नेपाल

भारत के पड़ोस में स्थित नेपाल जाने के लिए भी आपको वीजा की जरूरत नहीं है। वहां जाने के बाद अधिकतम 150 दिनों के लिए वीजा ऑन अराइवल ले सकते हैं। नेपाल के पहाड़ी इलाको में सफर करने का दिल हो तो बस नेपाल की तरफ बढ़ चलिए। नेपाल में प्रवेश पाने के लिए आपके पास कोई भी फोटो आइडी होनी चाहिए। आपको बता दें नेपाल के अलावा किसी भी दूसरे देश में जाने के लिए आपके पास पासपोर्ट होना जरुरी है।

मॉरीशस

भारतीय नागरिक को यहां अधिकतम 60 दिनों के लिए वीजा ऑन अराइवल की सहूलियत मिलती है। मॉरिशस के सी फूड की तो बात ही कुछ और हैं। अफ्रीकी महाद्वीप के तट के दक्षिणपूर्व में लगभग 900 किलोमीटर की दूरी पर हिंद महासागर में और मेडागास्कर के पूर्व में स्थित एक द्वीपीय देश है। मॉरीशस द्वीप के अतिरिक्त इस गणराज्य में, सेंट ब्रेंडन, रॉड्रीगज और अगालेगा द्वीप भी शामिल हैंमारीशस की संस्कृति, मिश्रित संस्कृति है, जिसका कारण पहले इसका फ्रांस के आधीन होना तथा बाद में ब्रिटिश स्वामित्व में आना है। मॉरीशस विलुप्त हो चुके डोडो पक्षी के अंतिम और एकमात्र घर के रूप में भी विख्यात है।

जॉर्डन

जॉर्डन में भारतीय नागरिकों को 2 हफ्ते के लिए वीजा ऑन अराइवल मिलता है। जॉर्डन के उत्तर में सीरिया, उत्तर-पूर्व में इराक, पश्चिम में पश्चिमी तट और इजरायल और पूर्व और दक्षिण में सउदी अरब स्थित हैं। जॉर्डन का ज्यादातर हिस्सा रेगिस्तान से घिरा हुआ है, विशेष रूप से अरब मरुस्थल; हालाँकी, उत्तर पश्चिमी क्षेत्र, जॉर्डन नदी के साथ, उपजाऊ चापाकार का हिस्सा माना जाता है। देश की राजधानी अम्मान उत्तर पश्चिम में स्थित है।

जमैका

जमैका जाने के लिए भी आपको किसी प्रकार के वीजा की कोई जरुरत नहीं है। बस आपको अपना पासपोर्ट लेना है और जमैका के लिए उड़ान भरनी है। जमैका ग्रेटर एंटीलिज पर स्थित एक द्वीप राष्ट्र है। स्पेनिश अधिशासन के दौरान सेंतियागो और बाद में ब्रिटिश क्राउन उपनिवेश जमैका बन गया। 28 लाख की आबादी के साथ ये देश उत्तरी अमेरिका में संयुक्त राज्य अमेरिका और कनाडा के बाद तीसरा सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश है। इस देश की राजधानी किंग्सटन है।

फिजी

फिजी अपने सुंदर बीचों के लिए प्रसिद्ध है। वहां जाने के लिए आपको वीजा की जरूरत नहीं है। अगर आपको फिजी जाना है तो बस तैयारियां शुरु कर दीजिए। फिजी न्यूजीलैण्ड के नॉर्थ आईलैण्ड से करीब 2000 किमी उत्तर-पूर्व मे स्थित है। इसके समीपवर्ती पड़ोसी राष्ट्रों मे पश्चिम की ओर वनुआतु, पूर्व में टोंगा और उत्तर मे तुवालु है। वर्तमान मे पर्यटन एवं चीनी का निर्यात इसके विदेशी मुद्रा के सबसे बड़े स्रोत हैं। यहां की मुद्रा फिजी डॉलर है। इसकी राजधाानी सुवा है।

इक्वाडोर

इक्वाडोर दुनिया का वो देश हैं जहां किसी भी देश के नागरिक को वीजा की जरूरत नहीं है। इक्वाडोर दक्षिण अमेरिका में स्थित एक प्रतिनिधि लोकतांत्रिक गणराज्य है। देश के उत्तर में कोलंबिया, पूर्व और दक्षिण में पेरू और पश्चिम की ओर प्रशांत महासागर स्थित है। ये एक दक्षिण अमेरिका में उन दो देशों (अन्य चिली) में से है, जिसकी सीमाएं ब्राजील के साथ नहीं मिलती है। भूमध्य रेखा, जिसके आधार पर देश का नाम रखा गया है। इक्वाडोर को दो भागों में विभाजित करती है। इसकी राजधानी क्विटो और सबसे बड़ा शहर गुआयाकिल है।

कंबोडिया

कंबोडिया जाने के लिए आपको वीजे की जरूरत नहीं है। कंबोडिया के अंकोरवाट मंदिर को तो पूरा विश्व जानता है। वहां पहुंचने के बाद इसके लिए आवेदन कर सकते हैं। अधिकतम 30 दिनों के लिए कंबोडिया भारतीय नागरिकों को वीजा ऑन अराइवल की सुविधा देता है।

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l

ये भी देखें

app-download