comScore

कठुआ में बोले राजनाथ सिंह- बैठकर बातचीत से सुलझाएं कश्मीर मसला

July 21st, 2019 19:42 IST

हाईलाइट

  • 'ऑपरेशन विजय' की 20वीं वर्षगांठ पर शनिवार को जम्मू-कश्मीर पहुंचे रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह
  • राजनाथ सिंह ने द्रास में कारगिल वॉर मेमोरियल में शहीदों को श्रद्धांजलि दी 
  • राजनाथ ने द्रास में वॉर मेमोरियल में विजिटर बुक पर हस्ताक्षर भी किए
  • राजनाथ ने कहा, कश्मीर में आंदोलन चलाने वाले लोग समाधान चाहते हैं तो हमसे बात करें

डिजिटल डेस्क, श्रीनगर। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह भारत के सैन्य अभियान 'ऑपरेशन विजय' की 20वीं सालगिरह पर शनिवार (20 जुलाई) को जम्मू-कश्मीर पहुंचे। कारगिल वॉर मेमोरियल में शहीदों को श्रद्धांजलि देने के बाद रक्षामंत्री कठुआ पहुंचे और कश्मीर की समस्या को लेकर कहा, कश्मीर का मसला आसानी से हल हो सकता, लेकिन अगर कोई बातचीत के माध्यम से समाधान नहीं चाहता है, तो हम जानते हैं समाधान कैसे किया जा सकता है।

शनिवार को राजनाथ सिंह सबसे पहले द्रास में कारगिल वॉर मेमोरियल पहुंचे और यहां शहीदों को श्रद्धांजलि दी। इस दौरान सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत भी मौजूद रहे। इसके बाद रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कारगिल वॉर मेमोरियल में विजिटर बुक पर हस्ताक्षर किए।

इसके बाद राजनाथ सिंह कठुआ पहुंचे। यहां कश्मीर की समस्या को लेकर रक्षामंत्री ने कहा, कश्मीर की समस्या हल हो जाएगी, दुनिया की कोई ताकत इसे रोक नहीं सकती है। अगर कोई बातचीत के माध्यम से समाधान नहीं चाहता है, तो हम अच्छी तरह जानते हैं कि समाधान कैसे किया जा सकता है।

राजनाथ सिंह ने ये भी कहा, जो लोग कश्मीर में आंदोलन चला रहे हैं, अगर वे इस समस्या का समाधान चाहते हैं तो मैं अपील करता हूं कि हमारे साथ बैठकर बातचीत करें ताकि इस समस्या को सुलझाया जा सके।

वहीं कारगिल विजय ज्योति मशाल शनिवार को हिमाचल प्रदेश के मनाली पहुंची। बता दें कि सेना के युद्धवीर 'विजय ज्योति' लेकर उत्तर भारत के नौ बड़े शहरों से गुजरते हुए 26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस के मौके पर जम्मू-कश्मीर के द्रास पहुंचेंगे और कारगिल वॉर मेमोरियल पर जल रही चिरकालिक ज्योति में उसे मिलाएंगे।

कमेंट करें
kreVT