comScore

बदलते वक्त के साथ बदलें बच्चों की परवरिश

BhaskarHindi.com | Last Modified - December 31st, 2017 09:08 IST

बदलते वक्त के साथ बदलें बच्चों की परवरिश

डिजिटल डेस्क। वक्त बहुत तेजी से बदल रहा है। माता-पिता के पैर छूने वाले बच्चे अब हाय-हैलो करते हैं। बुक्स की जगह, अब टैबलेट से पढ़ाई होती है। ऐसे में मां-बाप की चिंता बढ़ जाती है कि कहीं बच्चों में कोई ऐसी लत ना लग जाए जो उनका भविष्य खराब कर दे। बदलते हुए जमाने को देख हर माता-पिता को ये चिंता सताती है कि अपने बच्चे को इस बदलाव के लिए कैसे तैयार करें? कैसे उन्हें सही और गलत को चुनना सिखाएं? कैसे उन्हें सही राह दिखाएं? ताकि उनका बच्चा तेजी से बदलते हुए जमाने के साथ कदम से कदम मिलाकर चल सके। जिसके लिए पैरेंट्स  बच्चे को पढ़ाई करने के लिए जोर देते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि बच्चे स्मार्ट और तेज दिमाग ज्यादा पढ़ाई करने से बनते हैं, लेकिन पढ़ाई के अलावा भी बहुत सी ऐसी चीजें हैं जो बच्चे को समझदार और तेज दिमाग बनाती हैं।  जिस पर आज के मां-बाप को कुछ ज्यादा ही ध्यान देने की जरूरत है। 

                               Image result for बच्चों की परवरिश

कैसी हो परवरिश ?

- स्कूल की किताबों के अलावा बच्चों को स्टोरी बुक्स पढ़ने की आदत डालें। स्टोरी बुक्स पढ़ने से बच्चों का दिमाग क्रिएटिव बनता है। साथ ही बच्चे समझदार भी बनते हैं।

- बच्चों को साथ बिठाकर होमवर्क करवाएं। बच्चों से एक दोस्त की तरह बात करें, उनकी परेशानियों को जानने की कोशिश करें। साथ ही जीवन में उन्हें आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करें।

                                 Related image

- अपने बच्चे को आउटडोर गेम्स खेलने पर जोर दें। क्योंकि आउटडोर गेम्स खेलने से बच्चा शारीरिक और मानसिक रूप से मजबूत बनता है। इससे बच्चे की सेहत तो अच्छी रहती ही है साथ ही दिमाग भी तेज होता है।

- बच्चे को ज्यादा टीवी देखने ना दें। क्योंकि बच्चे टीवी प्रोग्राम में इतने ज्यादा खो जाते हैं कि वो घंटों तक टीवी के आगे ही बैठे रहते हैं। जिससे उनका मानिसक विकास नहीं हो पाता है। 2 साल की उम्र से पहले बच्चे को टीवी से दूर ही रखें।

                              Image result for children watching tv

- अधिकतर लोगों को कहते सुना होगा कि बच्चा वही सीखता है जो दूसरों को करते देखता है। इसलिए बच्चे के सामने आप भी ज्यादा से ज्यादा एक्टिव रहें, बुक्स पढ़ें, एक्सरसाइज करें, क्रिटिव चीजें करें, ताकि बच्चे पर पॉजिटिव असर पड़े।

- घर के छोटे-मोटे कामों में बच्चे से मदद लें। थोड़े बहुत उनके काम उन्हें खुद से करने दें। इससे उनमें आत्मविश्वास पैदा होगा और चीजों को लेकर उनमें सही समझ आएगी। 

 

Similar News
B'day Spl: सिर्फ अपनी शर्तों पर जीता है 'टाइगर' सलमान

B'day Spl: सिर्फ अपनी शर्तों पर जीता है 'टाइगर' सलमान

देश में बढ़ रही कैंसर मरीजों की तादाद,निजात पाने लाइफस्टाइल में लाएं ये बदलाव  

देश में बढ़ रही कैंसर मरीजों की तादाद,निजात पाने लाइफस्टाइल में लाएं ये बदलाव  

आग लगाकर पत्नी को उतारा था मौत के घाट, कोर्ट ने सुनाई आजीवन कारवास की सजा

आग लगाकर पत्नी को उतारा था मौत के घाट, कोर्ट ने सुनाई आजीवन कारवास की सजा

B' Day Spl: डांसिंग से कॉमेडी किंग तक जानिए राजा बाबू की लाइफ से जुड़े रोचक सीक्रेट्स

B' Day Spl: डांसिंग से कॉमेडी किंग तक जानिए राजा बाबू की लाइफ से जुड़े रोचक सीक्रेट्स

समाचार पर अपनी प्रतिक्रिया यहाँ दें l