comScore

सतना-रीवा के बीच ट्रेन नहीं होंगी लेट - ट्रैक दोहरीकरण के लिए बजट का प्रावधान 

सतना-रीवा के बीच ट्रेन नहीं होंगी लेट - ट्रैक दोहरीकरण के लिए बजट का प्रावधान 

डिजिटल डेस्क, सतना। रीवा से सतना के बीच 50 किलोमीटर पर चल रहे रेल दोहरीकरण के काम के लिए रेल बजट में 40 करोड़ के बजट प्रावधान किया गया है। इस मद के तहत 4 नए स्टेशनों का विस्तारीकरण भी शामिल है। जबलपुर जोन की सीपीआरओ प्रियंका दीक्षित ने ये जानकारी दी। उल्लेखनीय है, इससे पहले वर्ष 2013 में इसी रेल खंड पर डबल ट्रैक के लिए भूअर्जन के मुआवजा समेत अन्य मदों में 450 करोड़ की राशि का आवंटन किया गया था। इसके अलावा रेल बजट में झुकेही से कटनी की ओर 1.6 किलोमीटर की कार्ड लाइन के लिए भी  वित्तीय वर्ष 1919-20 के तहत 5 करोड़ की राशि स्वीकृत की गई है। दोहरी लाइन हो जाने के बाद ट्रेनों के लेट होने की समस्या हल हो जाएगी । 

मगर राह नहीं आसान 

रीवा रेल लाइन के दोहरीकरण में धन का संकट नहीं होने के बाद भी इस कार्ययोजना के क्रियान्वयन की राह आसान नहीं है। मसलन- कैमा स्टेशन में रेलवे की जमीन को अतिक्रमण से मुक्त कराने में राज्य शासन के राजस्व अफसरों की दिलचस्पी नहीं है। टमस नदी पर पुल का निर्माण अधूरा है। अनेक स्थानों पर भूअर्जन की प्रक्रिया पूरी नहीं होने के कारण डबल ट्रैक बिछाने के काम में तरह-तरह की मुश्किलें हैं। उपलब्धि के लिहाज से रीवा से तुर्की तक महज 10 किलोमीटर पर डबल ट्रैक का ट्रायल हो पाया है। इस रेल खंड में विद्युतीकरण का भी काम चल रहा है। 

ललितपुर सिंगरौली प्रोजेक्ट को 380 करोड़  

पश्चिम मध्य रेलवे के जबलपुर जोन के अंतर्गत निर्माणाधीन ललितपुर -सिंगरौली प्रोजेक्ट के लिए भी बजट में 380 करोड़ का प्रावधान किया गया है। ये राशि इसी प्रोजेक्ट के ललितपुर-सतना, रीवा-सिंगरौली, महोबा और खजुराहो के बीच 541 किलोमीटर पर व्यय की जाएगी। 

मगर राह नहीं आसान 

इस बहुप्रतीक्षित प्रोजेक्ट में भी धन का संकट नहीं है। मगर, बावजूद इसके अभी तक सिर्फ ललितपुर से खजुराहो तक 165 किलोमीटर पर ही रेल यातायात प्रारंभ हो पाया है।  खजुराहो से सिंगरौली के बीच 376 किलोमीटर पर जहां  काम चल रहा है। वहीं  पन्ना से सतना के मध्य 74 किलोमीटर पर अभी तक फारेस्ट की क्लीयरेंस नहीं मिली है। पन्ना से खजुराहो के बीच 73 किलोमीटर पर भू अधिग्रहण की तरह फारेस्ट क्लीरेंस भी झमेले में है।

कमेंट करें
7MSuE