comScore

सुबह उठने में होती है परेशानी तो नहीं है आम बात, हो सकती है गंभीर बीमारी

November 14th, 2018 11:27 IST

डिजिटल डेस्क । हल्की सर्दी शुरू हो गई है। लोग कूलर और ऐसी से अब फैन पर आ गए हैं। कुछ लोगों ने तो अभी से हल्की रजाई निकाल ली है। हल्की ठंडी हवा से सुबह की शुरूआत होती है। अब सर्दियों का नाम लिया है तो लोगों नींद जरा ज्यादा ही आएगी। ये आम धारणा है या यूं कहें कू लोग अपने आलस का ढिकरा सर्दी पर फोड़ देते है। अक्सर लोगों को कहते सुना होगा कि ठंड ज्यादा थी रजाई में से निकलने का मन नहीं किया और इसी तरह का बहाने बनाते हुए रोज-रोज लेट हो जाते हैं,लेकिन ये इन्हें आप केवल बहाने ना समझे वाकई कई लोगों को सुबह उठने में तकलीफ होती है। कई आलार्म सेट करने बाद भी उनकी नींद नहीं खुलती। जल्दी उठने की सारी तीकड़में लगाने बावजूद नींद पर उनका जोर नहीं चलता और वो लोग उठने में लेट हो ही जाते हैं। अगर आपको भी सुबह बिस्तर छोड़ने में काफी जद्दोजहद करनी पड़ती है तो आपको इस पर ध्यान देने की जरूरत है। अगर आप अब तक इसे केवल आलस समझते आए हैं तो बता दें कि ये एक मेडिकल कंडीशन है और इससे दुनिया में काफी संख्या में लोग प्रभावित हैं। डाइसेनिया एक डिसऑर्डर है जिसमें व्यक्ति को सुबह उठने में काफी दिक्कत होती है। आइए जानते है कि आखिर ये डाइसेनिया डिसऑर्डर है क्या और कैसे आप पर असर करता है? 

कमेंट करें
cmIKw