क्रिकेट की मेजिकल गर्ल : जिसके बल्ले से बरसते हैं रन, इन बातों ने बनाया सुपरवुमन

December 3rd, 2021

हाईलाइट

  • मिताली राज अर्जुन पुरस्कार से नवाजा जा चुका है
  • मिताली को डांसर बनने की शौक थी

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली।  क्रिकेट की लेडी तेंदुलकर कही जाने वाली मिताली राज ने कई रिकार्ड्स अपने नाम किये हैं। भारतीय महिला टेस्ट और एकदिवसीय टीम की कप्तान मिताली राज  को देश और विदेश में उनके खेल को लेकर काफी पसंद किया जाता है। आईये जानते हैं क्रिकेट की दुनिया में रिकार्ड धारी उस खिलाडी के बारे में जिनका आज जन्मदिन हैं। 

जन्म

राजस्थान के जोधपुर में 3 दिसम्बर 1982 को जन्मी मिताली राज का पूरा नाम मिताली दोराई राज है। उन्हें बचपन में डांस करना बहुत पसंद था । उन्होंने भरतनाट्यम नृत्य में भी ट्रेंनिग ली । सामान्य परिवार में जन्मी मिताली के पिता धीरज राज  बैंक कर्मचारी थे वे स्वयं भी क्रिकेटर रहे हैं, उन्होंने मिताली को प्रोत्साहित करने का हमेशा प्रयास किया और उनकी माँ लीला राज एक अधिकारी थी।

उन्होंने आपनी बेटी की सहायता के लिये नौकरी छोड़ दी ताकि मिताली जब खेलों के अभ्यास के बाद थकी हुई लौटे, तो वह अपनी बेटी का ख्याल रख सके । मिताली नें अपने स्कूल के दिनों में ही क्रिकेट की ट्रेनिंग लेना शुरू कर दी थी।

क्रिकेट

आपको बता दें कि बचपन से ही डांसर बनने की इच्छा रखने वाली क्रिकेटर मिताली एक इंटरव्यू में बताती हैं कि वे अपने पिता की जिद से क्रिकेटर बनी हैं। मिताली राज आईसीसी महिला एक दिवसीय क्रिकेट रैंकिंग में तीसरे स्थान पर बनी हुई हैं. उनके 738 अंक हैं उन्होनें एक दिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच 1999 में पहली बार खेला था यह मैच मिल्टन कीनेस, आयरलैंड में हुआ था जिसमें मिताली ने 114 रन नाबाद रहते हुये बनाए थे।

बता दें अक्टूबर में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले गए पहले मैच में मिताली राज ने 107 गेंदों में 61 रन बनायें थे, इस पारी के साथ ही क्रिकेट के सभी फॉर्मेट में करियर के 20,000 रन पूरे कर इस मुकाम पर पहुंचने वाली मिताली राज दुनिया की पहली महिला क्रिकेटर बनी। वह पहली महिला खिलाड़ी हैं जिनके बल्ले से वनडे  क्रिकेट में 7000 से ज्यादा बन चुके हैं। उनके नाम वनडे क्रिकेट में 7 शतक दर्ज हो चुके हैं।

उन्होने आईसीसी ओडीआई विश्व कप मे फोकस करने की बात कहकर 2019 में टी 20 फोरमेट में न खेलने का निर्णय लिया था।  मिताली राज एकमात्र महिला खिलाड़ी हैं जिन्होंने एक से अधिक आईसीसी ओडीआई विश्व कप फाइनल में भारत का नेतृत्व किया है, जो 2005 और 2017 में हुया था।

वे टेस्ट क्रिकेट मैच में दोहरा शतक बनाने वाली पहली महिला है, मिताली भारत की पहली ऐसी महिला खिलाड़ी है जिन्होंने अपने  टी20 क्रिकेट में भी 2000 या इससे ज्यादा रन बनाये। साथ ही टेस्ट क्रिकेट में दोहरा शतक लगाने वाली पहली महिला का खिताब भी इनके पास ही है भारतीय महिला टेस्ट और एकदिवसीय टीम की कप्तान  मिताली राज की इन्ही उपलब्धियों के कारण इनके फैंस इन्हें लेडी तेंदुलकर भी कहते हैं

सम्मान 
आपको बता दें कि कई खिताब अपने नाम कर चुकी भारतीय बल्लेबाज मिताली राज को क्रिकेट में उपलब्धियों के लिए उन्हे 2004  में अर्जुन पुरस्कार ,2015 में पद्म श्री पुरूस्कार से सम्मानित किया जा चुका हैं आपको बता दें हाल ही में इन्हें मेजर ध्यानचंद खेल रत्न पुरूस्कार भी दिया गया हैं।

यह पुरुस्कार पाने वाली वह पहली महिला खिलाडी हैं। पुरस्कार उन खिलाडियों को दिया जाता हैं जिन्होनें विगत बर्ष खेल के क्षेत्र में असाधारण प्रदर्शन किया हैं 

शादी 

गौरतलब है कि क्रिकेट के मैदान बेहद शांत स्वभाव में रहकर अपने बल्ले से तेजी से रन निकालने वाली भारत की स्टार बल्लेबाज मिताली राज ने अपने खेल से देश का नाम ऊंचा किया राजस्थान में जन्मीं मिताली राज ने अभी तक शादी नहीं की हैं। इतनी उम्र होने के बाद भी उन्होनें शादी नहीं की हैं। 

'मिड डे' को दिए एक इंटरव्यू में शादी को लेकर मिताली राज ने बताया कि 'बहुत समय पहले, जब वह बहुत छोटी थी तब यह विचार उनके दिमाग में आया था, लेकिन अब जब वह विवाहित लोगों को देखती हैं, तब यह विचार उनके दिमाग में नहीं आता है। साथ ही उन्होने कहा मैं सिंगल रहकर बहुत खुश हूं। 

सोशल मीडिया पर मिताली का राज

आपको बता दें कि रिकार्ड धारी भारतीय महिला टेस्ट और एकदिवसीय टीम की कप्तान  मिताली राज के सोशल मीडिया प्लेटफार्म में फोलोवर्स की संख्या भी करोडों में हैं । इंस्टाग्राम में उनके फोलोवर्स की संख्या  1.5 मीलियन से अधिक हैं वहीं ट्वीटर में भी 1 मीलियन के करीब फोलोवर्स हैं।