comScore

FIFA World Cup का पहला उलटफेर, मैक्सिको ने जर्मनी को 1-0 से हराया

June 18th, 2018 10:38 IST

डिजिटल डेस्क, मॉस्को। डिफेंडिंग चैंपियन जर्मनी को वर्ल्डकप के अपने पहले मुकाबले में निराशा हाथ लगी है। वर्ल्ड नम्बर-1 टीम को मैक्सिको ने 1-0 से हरा दिया है। मैक्सिको की इस जीत के नायक हिरविंग लज़ानो रहे, जिन्होंने मैच के 35वें मिनट में शानदार गोल कर अपनी टीम को निर्णायक बढ़त दिलाई। पहले हॉफ में हुए इस गोल के बाद दोनों ही टीमों की ओर से कोई दूसरा गोल नहीं हो पाया। जर्मनी ने मैक्सिको के गोल पोस्ट पर अटैक तो काफी किए लेकिन उन्हें कोई सफलता हासिल नहीं हो पाई, आखिरकार जर्मन खिलाड़ियों को उतरे हुए चेहरे के साथ मैदान छोड़ना पड़ा।

मैच की शुरुआत से ही मैक्सिको ने दमदार खेल दिखाया। पहले हॉफ में ही मैक्सिकन खिलाड़ियों ने अच्छे मूव्स बनाए, लेकिन उन्हें गोल में तब्दील करने में कामयाब नहीं हो सके। इस दौरान जर्मन डिफेंस लाइन बेहद कमजोर दिखाई दी। जर्मनी के डिफेंडरो ने बेहद आसानी से मैक्सिकन फॉरवर्ड प्लेयरों को गोल पोस्ट पर अटैक करने के मौके दिए। मैक्सिकन प्लेयरों ने जर्मनी के इस कमजोर डिफेंस को भूनाया भी और 35वें मिनट में शानदार मूव बनाकर गोल कर दिया। पहले हॉफ की समाप्ति तक मैक्सिको ने अपनी बढ़त कायम रखी।
 




दूसरे हॉफ की शुरुआत से ही जर्मनी ने अपना आक्रामक खेल दिखाना शुरू किया। पज़ेशन के साथ-साथ जर्मनी ने लगातार मैक्सिन गोल पोस्ट पर अटैक किये। हालांकि मुस्तैद मैक्सिकन डिफेंडरों ने जर्मन फॉरवर्ड प्लेयरों के इन हमलों को अच्छी तरह से विफल किया और गोल करने का कोई मौका नहीं दिया।

मैच में जर्मनी ने 60 प्रतिशत समय तक गेंद को अपने पास रखा। कम्प्लीट पासेस, पासिंग एक्युरेसी में भी जर्मनी, मैक्सिको से आगे रहा। डिफेंस में दोनों ही टीमें एक जैसी नजर आई। हालांकि क्लियरेंसेस के मामले में मैक्सिको, जर्मनी से बेहद आगे रहा। अटैक की बात करें तो जर्मनी ने 25 अटेम्प्ट किए, जिनमें 9 ऑन टारगेट, 9 ऑफ टारगेट थे। वहीं मैक्सिको ने 12 अटेम्पट किए, इसमें 4 ऑन टारगेट और 6 ऑफ टारगेट थे। जर्मनी को जहां 8 कॉर्नर किक मिलीं, वहीं मैक्सिको को पूरे गेम में महज 1 कॉर्नर किक हासिल हुई। दोनों ही टीमों के खिलाड़ियो को 2-2 येलो कार्ड दिखाए गए।



इस हार के बाद जर्मनी को राउंड ऑफ 16 में पहुंचने में बड़ी मशक्कत करनी पड़ सकती है। ग्रप-F में उसके अगले  दो मैच स्वीडन और दक्षिण कोरिया से है। इसमें स्वीडन, जर्मनी को हराना का माद्दा रखती है। अगर स्वीडन भी जर्मनी को हरा देता है तो वर्तमान में दुनिया की नम्बर-1 टीम को ग्रुप स्टेज में ही बाहर होना पड़ सकता  है।
 

कमेंट करें
E9RrG