comScore

टाटा मुम्बई मैराथन 2020 ने चैरिटी के कई रिकार्ड तोड़े

January 15th, 2020 10:42 IST
टाटा मुम्बई मैराथन 2020 ने चैरिटी के कई रिकार्ड तोड़े

हाईलाइट

  • टाटा मुम्बई मैराथन 2020 ने चैरिटी के कई रिकार्ड तोड़े

डिजिटल डेस्क, मुम्बई। टाटा मुम्बई मैराथन 2020 ने इस साल चैरिटी के कई रिकार्ड तोड़ दिए हैं। इस साल चैरिटी अभियान में कुल 291 एनजीओ, 204 कारपोरेट्स, 14 हजार रनर्स ने 33 करोड़ रुपये जुटाए हैं। यह आंकड़ा प्री-रेस अभियानों का है और इस लिहाज से बीते साल के 40.7 करोड़ रुपये के चैरिटी का रिकार्ड ध्वस्त हो सकता है। बी बेटर टैगलाइन के साथ टाटा मुम्बई मैराथन न सिर्फ एक श्रेष्ठ रनिंग इवेंट है बल्कि यह नागरिकों को भी श्रेष्ठ योगदान के लिए प्रेरित करता है। यही कारण है कि टीएमएम 2020 के तहत 2000 से अधिक धावकों ने कैम्पेन में हिस्सा लिया और 12 करोड़ रुपये जुटाए।

इस फंड से बच्चों को शिक्षा देने, हेल्थकेयर अच्छा करने, जीवनयापन के साथ उपलब्ध कराने और देश भर में पर्यावरण पर काम करने में मदद मिलेगी। इस साल टाटा मुम्बई मैराथन में 204 कारपोरेट्स ने 321 टीम्स और 8391 रनर्स को काम पर लगाया और इसी कारण यह इवेंट देश के सबसे बड़े फिलेनथेरोपिक प्लेटेफार्म के रूप में सामने आया।

युनाइटेड वे मुम्बई (यूडब्ल्यूएम) इवेंट का फिलेनथेरोपी पार्टनर है। यह एनजीओ को अपने प्रोजेक्ट्स के लिए इवेंट के माध्यम से फंड जुटाने की आजादी देता है। यूडब्ल्यूएम सभी भाग लेने वाले गैर-सरकारी संगठनों के लिए तटस्थ प्लेटफार्म देता है और इन गैर-सरकारी संगठनों का समर्थन करने के लिए कई कॉपोर्रेट्स और व्यक्तिगत फंडरेजर्स को एक कार्यात्मक मंच प्रदान करता है।

इवेंट के पहले संस्करण में 12 एनजीओ ने मिलकर 1.4 करोड़ रुपये की फंडरेजिंग की थी लेकिन तब से लेकर आज तक इस इवेंट ने फंडरेजिंग के मामले में कई कीर्तिमान स्थापित किए हैं। प्रोकैम इंटरनेशनल द्वारा प्रोमोटेड यह इवेंट फिलेनथोरोपी को एक अहम गुण बनाकर अपने साथ लेकर चल रहा है और यही कारण है कि यह इवेंट एशिया का सबसे बड़ा फिलेनथरोपिक स्पोर्टिंग इवेंट बन गया है।

इस सफर में कई लोगों ने अपनी मेहनत के दम पर काफी रकम जुटाई। 2017 में मिहिर दोशी एक करोड़ रुपये की फंडरेजिंग करने वाले पहले व्यक्ति बने। 2018 में शंकर रमन ने अपना ही रिकार्ड तोड़ते हुए सबसे बड़ा फंडरेजर बनने का गौरव हासिल किया। 2019 में शंकर सहित छह लोगों ने एक करोड़ रुपये का बैरियर पार किया और वीएस पार्थसारथी इवेंट के इतिहास के सबसे बड़े व्यक्तिगत फंडरेजर बने। इस साल वीएस पार्थसारथी ने अब तक 1.4 करोड़ रुपये की फंडरेजिंग कर ली है।

युनाइटेड वे मुम्बई की सीईओ जयंती शुक्ला ने कहा, इस इवेंट के माध्यम से लोग एक कॉमन ग्राउंड पर आते हैं और यही इस इवेंट की सबसे बड़ी ताकत है। हर एक कैम्पेन की अलग विशेषता है लेकिन हर एक कैम्पेन में हिस्सा लेने वाले लोग एक ही खास मकसद के तहत इस प्लेटफार्म से जुड़ते हैं।

प्रोकैम इंटरनेशनल के संयुक्त प्रबंध निदेशक विवेक सिंह ने कहा, टाटा मुम्बई मैराथन एक यूनीक चैरिटी प्लेटफार्म है और इसे समाज के हर तबके का साथ मिलता है। हर साल फंडरेजिंग का नया रिकार्ड न रहा है। 2020 संस्करण इनमें सबसे खास है। हमें अपने फिलेनथोरोपी पार्टनर्स के साथ अब तक की यात्रा पर गर्व है। हम साथ मिलकर इस समाज को बेहतर बनाने के लिए काम कर रहे हैं और करते रहेंगे। हम इस मकसद में हमारे साथ चल रहे हर एक व्यक्ति का धन्यवाद करना चाहते हैं क्योकि उनके सहयोग और समर्थन से ही हम समाज को बेहतर बनाने का अपना सपना पूरा कर सकते हैं।

कमेंट करें
0hqD4