कोरोना का कहर: मप्र में 13 हजार 862 कोरोना मरीज होम आइसोलेशन में

January 13th, 2022

हाईलाइट

  • मप्र में 13 हजार 862 कोरोना मरीज होम आइसोलेशन में

डिजिटल डेस्क, भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण की दर तेजी से बढ़ रही है, बच्चे भी इसकी जद में आ रहे है। राज्य में एक्टिव मरीजों की संख्या 14 हजार 413 हो गई है, इनमें से 13 हजार 862 मरीज होम आइसोलेशन में है। वहीं सरकार ने फैसला लिया है कि पहली से आठवीं तक की कक्षाएं 50 फीसदी उपस्थिति के साथ के चलती रहेंगी।

राज्य के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि तीसरी लहर में प्रदेश में कोरोना के 14 हजार 413 मरीजों में से अधिकांश 13 हजार 862 मरीज होम आइसोलेशन में हैं। इन्हें मेडिकल किट एवं टेली कंसल्टेशन की सुविधा प्रदान की गई है। साथ ही हर जिले में बनाये गये कमांड एण्ड कंट्रोल सेंटर के माध्यम से प्रतिदिन कॉल कर होम आइसोलेशन में बरती जाने वाली सावधानियों के बारे में बताया जाता है।

मुख्यमंत्री चौहान ने निर्देश दिये कि कोरोना के उपचार की अस्पतालों में सभी व्यवस्थाएं हों। वर्तमान में प्रदेश में कोविड उपचार के लिये कुल 50 हजार 873 बेड्स उपलब्ध हैं। इनमें 10 हजार 55 सामान्य बिस्तर, 27 हजार 901 ऑक्सीजनयुक्त सामान्य बिस्तर तथा 12 हजार 917 एचडीयू व आईसीयू बिस्तर हैं।

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. प्रभुराम चोधरी ने बताया कि इसके अतिरिक्त प्रदेश में कोविड केयर सेंटर्स में 13 हजार 965 बिस्तर उपलब्ध हैं। कोविड के उपचार के लिये प्रदेश में 9 अस्थाई अस्पताल बनाये गये हैं, जिनमें 740 बिस्तर हैं। इनमें 437 ऑक्सीजन युक्त हैं।

अपर मुख्य सचिव मोहम्मद सुलेमान ने बताया कि बुधवार इंदौर में 1169, भोपाल में 572, जबलपुर में 280 तथा उज्जैन में कोरोना के 170 प्रकरण सामने आये हैं।

सरकार ने तय किया है कि समस्त स्कूलों में कक्षा पहली से आठवीं तक बच्चे 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ रहेंगे। प्रदेश में कोरोना संक्रमण से बचाव के लिये रात्रि 11 से प्रात पांच बजे तक नाइट कर्फ्यू लागू किया गया। सभी प्रकार के मेले, जिनमें जन-समूह एकत्र होता है, प्रतिबंधित हैं।

राज्य में संक्रमण को लेकर तय की गई गाइड लाइन के मुताबिक समस्त सिनेमा हॉल, मल्टीप्लेक्स थिएटर, कोचिंग क्लासेस, स्वीमिंग पूल, क्लब, स्टेडियम में केवल कोविड-19 के दोनों टीके लगाये हुए व्यक्तियों को प्रवेश की अनुमति है। विवाह आयोजनों में दोनों पक्षों का मिलाकर अधिकतम 250 लोग शामिल हो सकेंगे। अंतिम संस्कार और उठावना में अधिकतम 50 व्यक्ति शामिल हो सकेंगे।समस्त सार्वजनिक स्थानों पर मास्क का उपयोग अनिवार्य होगा।

 

आईएएनएस