comScore

MLA हॉस्टल के सामने दिनदहाड़े 18.31 लाख लूटकर आरोपी फरार

MLA हॉस्टल के सामने दिनदहाड़े 18.31 लाख लूटकर आरोपी फरार

डिजिटल डेस्क, नागपुर। आमदार निवास (एमएलए हॉस्टल) के ठीक सामने  ब्रिन्गल कंपनी प्रा. लि., मानेवाड़ा के 2 कर्मचारियों को चाकू की नोंक पर मास्क लगाए लुटेरों ने शिकार बनाया। इन कर्मचारियों से तीन बाइक पर सवार होकर आए 6 बदमाशों ने 18.31 लाख रुपए लूट लिए और फरार हो गए। यह कंपनी शहर के विभिन्न स्थानों से पैसे का कलेक्शन करके बैंकों में जमा करने का काम करती है। घटना के बाद मौके पर पुलिस के आला अधिकारी पहुंचे, परंतु देर रात तक लुटेरों का सुराग नहीं मिल सका था। सीताबर्डी पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर लिया है। कुछ अन्य संदिग्धों को भी हिरासत में लिया गया है।

पहले धक्का देकर गिराया, फिर चाकू दिखाया

 घटना से सिविल लाइंस के अलावा पूरे शहर में दहशत व्याप्त है। पुलिस की मानें तो ब्रिन्गल कंपनी प्रा. लि. में श्रीकांत नानाजी इंगले (37) निवासी सराईपेठ, अशोक चौक और सतीश धांदे कैश कलेक्शन का काम करते हैं। इन लोगों ने 16 लाख रुपए की नकदी एलआईसी ऑफिस, 99-जी, शंकर नगर से कलेक्शन किया था। बाकी रकम अलग-अलग स्थानों से लिया था। कुल मिलाकर बैग में 18 लाख 31 हजार 461 रुपए नकदी थी। दोनों  दोपहिया वाहन (एम.एच- 31- बी.सी- 5044) से सिविल लाइंस स्थित एमजे रोड पर एक्सिस बैंक जा रहे थे। बाइक श्रीकांत चला रहा था और बैग सतीश के हाथ में था। श्रीकांत ने पुलिस को बताया कि दोपहर 1.35 बजे पीछे से पहले लाल रंग की बाइक पर दो लोग आए। उसके बाद दो अन्य बाइक से डबलसीट 4 लोग आए। पहले आए दो लोगों ने श्रीकांत की बाइक को धक्का दिया। श्रीकांत और सतीश गिर गए। सतीश के हाथ से बैग भी छूट गया। उसने बैग लेने की कोशिश की तो 2 लुटेरों ने चाकू दिखाया और बैग ले लिया। इसके साथ ही सभी बदमाश फरार हो गए। लुटेरों की उम्र 20-25 वर्ष के बीच की थी। 

खंगाला जा रहा सीसीटीवी फुटेज

घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस उपायुक्त विनीता साहू और सीताबर्डी थाने के वरिष्ठ थानेदार जग्वेंद्र सिंह राजपूत मौके पर पहुंचे। सीसीटीवी कैमरे की मदद से आरोपियों की खोजबीन शुरू कर दी गई है। अपराध शाखा पुलिस की टीम को भी इस कार्य में लगाया गया है। यह वारदात जिस जगह हुई, वहां आमदार निवास है। इसी को क्वारेंटाइन सेंटर बनाया गया है। यहां हर समय पुलिस की तैनाती भी रहती है। इसी के पास डीआरडीओ रेजीडेंस क्वार्टर भी है। इसके बावजूद इतनी बड़ी घटना को अंजाम देकर लुटेरे फरार हो गए। लुटेरों का सुराग लगाने के लिए पुलिस इंदोरा चौक तक पहुंची। पुलिस ने सवाल भी खड़े किए हैं। इतनी बड़ी रकम बाइक से ले जाने वालों के पास सुरक्षा के कोई इंतजाम नहीं थे।

कमेंट करें
AiUBe