उत्तराखंड: रुद्रप्रयाग में पुल की शटरिंग गिरने के मामले में जेई और एई निलंबित, 3 श्रमिकों की हुई थी मौत

July 23rd, 2022

डिजिटल डेस्क, उत्तराखंड। रुद्रप्रयाग के नरकोटा के पास ऑल वेदर रोड के निमार्णाधीन पुल की शटरिंग गिरने के मामले पर निमार्णाधीन कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर और सहायक इंजीनियर को जेल भेज दिया गया था। वहीं अब इस मामले में सरकार ने एक सहायक अभियंता और एक कनिष्ठ अभियंता को निलंबित कर दिया। कार्यपालक अभियंता को फील्ड से हटाकर मुख्य अभियंता के कार्यालय से संबद्ध कर दिया गया।

बीते बुधवार को हुए हादसे में 3 मजदूरों की मौत हो गई थी और 7 घायल मजदूरों का इलाज चल रहा है। वहीं, मजदूरों के परिजनों की तहरीर पर प्रोजेक्ट मैनेजर और सहायक इंजीनियर के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था, जिसके बाद निमार्णाधीन कंपनी के प्रोजेक्ट मैनेजर और सहायक इंजीनियर को जेल भेज दिया गया था। वहीं सरकार ने इस मामले को गंभीरता से लेते हुए एक सहायक अभियंता और एक कनिष्ठ अभियंता को निलंबित कर दिया। कार्यपालक अभियंता को फील्ड से हटाकर मुख्य अभियंता के कार्यालय से संबद्ध कर दिया गया।

बता दें कि जिला मुख्यालय रुद्रप्रयाग से 7 किमी दूर नरकोटा में ऋषिकेश बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग पर ऑल वेदर रोड के तहत 65 करोड़ की लागत से डबल लेन मोटर पुल का निर्माण कार्य किया जा रहा है। बीते बुधवार सुबह लगभग 9 बजे मजदूर पुल पर कार्य कर रहे थे। इस दौरान मजदूरों के ऊपर लोहे की शटरिंग गिर गई और 10 मजदूर दब गए। 8 मजदूरों को शीघ्र निकालकर जिला चिकित्सालय पहुंचाया गया, जबकि दो मजदूर शटरिंग के नीचे फंसे रह गए।

काफी मशक्कत के बाद कटर मशीन से शटरिंग को काटकर दोनों मजदूरों को बाहर निकाला गया, लेकिन तब तक दोनों मजदूरों की मौत हो चुकी थी। वहीं, जिला चिकित्सालय में गंभीर रूप से घायल दो मजदूरों को ऋषिकेश एम्स रेफर किया गया था। यहां भी उपचार के दौरान देर रात एक मजदूर दम तोड़ दिया। जबकि दूसरे मजदूर की हालत गंभीर बनी हुई है।

(आईएएनएस)

डिस्क्लेमरः यह आईएएनएस न्यूज फीड से सीधे पब्लिश हुई खबर है. इसके साथ bhaskarhindi.com की टीम ने किसी तरह की कोई एडिटिंग नहीं की है. ऐसे में संबंधित खबर को लेकर कोई भी जिम्मेदारी न्यूज एजेंसी की ही होगी.