comScore

Travel: बेहद खूबसूरत है माउंट आबू, जानिए यहां की घूमने लायक जगहें


डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। राजस्थान का एकमात्र हिल स्टेशन माउंट आबू अपने शांत वातावरण और हरे-भरे माहौल की वजह से इस राज्य का सबसे लोकप्रिय पर्यटन स्थल है। यह अपनी प्राकृतिक सुंदरता, हरी भरी पहाड़ियों, निर्मल झीलों, सुंदर मंदिरों और अनेक धार्मिक स्थानों के लिए प्रसिद्द है। यह हिल स्टेशन अरावली पर्वत की सबसे ऊंची चोटी पर स्थित हैं। यहां पर वन ट्रेल्स के माध्यम से ट्रेकिंग करना और टेंटों में रात भर डेरा डालना, आराम करना बेहद रोमांचक है। रॉक क्लाइंबिंग और रैपलिंग जैसी ऐक्टिविटीज आप यहां इंजॉय कर सकते हैं। तो चलिए बताते हैं आपको माउंट आबू की कुछ खास घूमने लायक जगहों के बारे में...

1) नक्की लेक
नक्की लेक माउंट आबू में एक खूबसूरत पिकनिक स्पॉट है। कहा जाता है कि एक हिन्दू देवता ने अपने नाखूनों से खोदकर यह झील बनाई थी, इसीलिए इसका नाम नक्की यानी नाखून पड़ गया। यह लेक 11,000 मीटर गहरा और एक मील चौड़ा है। झील में लोग नौका विहार कर हरे भरे दृश्यों का आनंद उठाते हैं। जब आप नक्की लेक में नाव की सैर करते हैं तो आपका मन मोह लेने वाली पहाड़ियां, आश्चर्यजनक शिलाएं और हरी भरी वादियों से भरपूर नज़ारे आपको खुश कर देते हैं।

2) टोड रॉक
माउंट आबू से गुज़रने वाले ट्रेकिंग मार्ग पर टोड रॉक नक्की झील के पास स्थित एक प्रमख आकर्षण का केंद्र है। इस चट्टान का नाम टोड रॉक इसकी असामान्य रचना की वजह से पड़ा है। इस बुलंद चट्टान का आकार मेंढक से मिलता है इसलिए इसे टोड रॉक कहा जाता है। पूरे हिल स्टेशन में इस जगह को लेकर पर्यटक खासे उत्सुक रहते हैं और इसे देखने जरूर जाते हैं। यहां से नक्की लेक और आसपास के वातावरण और हरियाली को देखना काफी अच्छा लगता है।

3) दिलवाड़ा जैन मन्दिर
दिलवाड़ा जैन मंदिर भारत के प्रमुख जैन तीर्थस्थलों में से एक है। इस दिलवाड़ा मंदिर में पांच छोटे-छोटे मंगिर है, जिनका नाम गांवों के नाम पर रखा गया है। लुना वसाही मंदिर, पिथलहर मंदिर, खतरार वसाही मंदिर, महावीर स्वामी मंदिर और विमल वसाही मंदिर। इन सभी मंदिरों की संरचना अपने आप में खास है। सभी मंदिर उनकी वास्तुकला और बारीक नक्काशी के लिए जाने जाते हैं। नक्काशीदार छत, दरवाजे, खंभे और पैनलों में मूर्तियां वाकई आश्चर्यजनक हैं।

4) माउंट आबू वाइल्ड लाइफ सेंचुरी
माउंट आबू की वाइल्ड लाइफ सेंचुरी एक पठार पर स्थित है जो 290 वर्ग किमी में फैली हुई है। वाइल्ड लाइफ सेंचुरी में वनस्पतियों और जीवों की लुप्तप्राय प्रजातियां देखने को मिलती हैं। तेंदुए, जंगली बिल्ली, भालू, सियार, लकड़बग्घा, भेड़िये, सांभर और जंगली सूअर जैसे जानवरों के साथ ही पक्षियों की 250 से अधिक प्रजातियों यहां देखी जा सकती हैं। रोमांचकारी जंगल ट्रेक का आनंद यहां लिया जा सकता है।

5) सनसेट पॉइंट
माउंट आबू में अलग से एक सनसेट पॉइंट बना हुआ है। यहां बड़ी संख्या में सैलानी ढलते सूरज के साथ फोटो क्लिक करने आते हैं। यह स्पॉट नक्की झील से 3 किमी की दूरी पर, एक मध्यम खड़ी चढ़ाई के बाद आता है। अधिकांश फोटोजेनिक सूर्यास्त दृश्यों के लिए प्रसिद्ध यह जगह प्रकृति प्रेमियों और शांति चाहने वालों को बहुत लुभाती है। यहां तक आने के लिए आप टैक्सी भी हायर कर सकते हैं।

कैसे जाएं और कहां रुके?
अगर आप माउंट आबू घूमने की प्लानिंग कर रहे हैं तो आपको सितंबर से मार्च के बीच ट्रैवलिंग का प्लान बनाना चाहिए। इस समय यहां के तापमान में काफी ठंडक रहती है। यहां पहुंचने के लिए आप एयर, रेल या सड़क मार्ग का इस्तेमाल कर सकते है। हालांकि माउंट आबू से निकटतम एयरपोर्ट उदयपुर 177 किमी दूर है। अगर आप ट्रेन से जा रहे हैं तो आपको सभी प्रमुख शहरों से आबू रोड के लिए ट्रन मिल जाएगी। वहीं माउंट आबू जाने के लिए आपको राज्य परिवहन की बसें भी मिल जाएंगी। यहां हर बजट के होटल उपलब्ध हैं। आप अपनी सुविधा अनुसार होटल चुन सकते हैं।

कमेंट करें
aESrV