comScore

ये है दुनिया की सबसे महंगी कार, अंबानी भी नहीं खरीद सकेंगे ये कार!

July 28th, 2018 14:05 IST

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। इंग्लैंड के गुडवुड फेस्टिवल 2018 में इटली की कंपनी पगानी ने सबको चौंका दिया। स्पोर्टस कार बनाने वाली कंपनी पगानी ने एक बेहतरीन कार ''पगानी जोंडा एचपी बार्शेटा'' की है। इस कार की कीमत इतनी है कि उतने में 10 उम्दा लड़ाकू विमान खरीदे जा सकते हैं। ''पगानी जोंडा एचपी बार्शेटा''  की कीमत 1.35 करोड़ पाउंड है, इंडियन करंसी के हिसाब से देखा जाए तो लगभग 122 करोड़ रुपये। कीमत के हिसाब से ये दुनिया की सबसे महंगी कार है। इस कार में 800 पीएस की ताकत है।

''पगानी जोंडा एचपी बार्शेटा'' एक अल्ट्रा लिमिटेड एडिशन कार है, जो कंपनी की लोकप्रिय पगानी जोंडा पर आधारित है। कुबेर भी चाहें तो अब इस कार को खरीद नहीं सकते, क्योंकि कंपनी ने सिर्फ 3 कारें ही बनाई थी जो कि पहले ही बिक चुकी हैं। जिस कार के आधार मानकर इस कार को बनाया गया है उसे पहली बार करीब 20 साल पहले बनाया गया था।

दिखने में ये कार इतनी जबरदस्त है कि किसी की भी निगाहें इससे हट नहीं सकती। एयरोडायनैमिक्स शेप वाली कार को कार्बन फाइबर बॉडीवर्क दिया गया है। बात करें इंजन की तो इसमें 7.3 लीटर का दमदार V12 इंजन दिया गया है। कार में 6 स्पीड मैनुअल गियरबॉक्स दिया गया है। 1250 किलोग्राम की इस कार में 789 BHP पावर का इस्तेमाल किया गया है। यह कार महज 3.1 सेकंड में 100 kmph की रफ्तार पकड़ लेती है। इस कार को पुराने मॉडल्स के मुकाबले बेहतरीन ढंग से डिजाइन किया गया है। इसके पहियों का डिजाइन भी लाजवाब है। इसमें चारों तरफ वेंटिलेडेड डिस्क के साथ 380 मिमी ब्रेक दिए दिए हैं. इसमें 6 पिस्टन कैलिपर सामने हैं, और पीछे चार पिस्टन कैलिपर हैं। कार के पिछले हिस्से पर जोंडा सिग्नेचर वाली 3 सर्कुलर लाइट्स दी गई हैं। 

इस कार में किसी भी तरह का अटैचेबल या कन्वर्टिबल टॉप उपलब्ध नहीं कराया जाएगा। इसकी मुख्य खासियतों में एक क्रॉप्ड विंडशील्ड और कार्बन टाइटेनियम कंपोजिट कंपोनेंट्स हैं। कंट्रास्टिंग व्हील्स का पैटर्न भी शानदार है, जिसके बायीं तरफ के पहिए सिल्वर कलर के और दाईं तरफ के पहिए नीले रंग के हैं।

अब बात उस कंपनी के इतिहास की जिसने ये शानदार कार बनाई। होरासियो ने 1992 में पगानी ऑटोमोबाइल की स्थापना की थी। इससे पहले उन्होंने लेम्बोर्गिनी कंपनी के साथ काम किया था। पगानी ऑटोमोबाइल पिछले 26 सालों में दुनिया की कुछ सबसे बेहतरीन कारें बना चुकी है।  हालांकि, अन्य कंपनियों के मुकाबले इसकी उत्पादन क्षमता कम ही रहती है। जानकारी के मुताबिक फिलहाल कंपनी ने केवल 3 ''पगानी जोंडा एचपी बार्शेटा'' बनाई हैं, जिनमें से एक खुद कंपनी के मालिक होरासियो इस्तेमाल करेंगे।

कमेंट करें
QfOES
NEXT STORY

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

Real Estate: खरीदना चाहते हैं अपने सपनों का घर तो रखे इन बातों का ध्यान, भास्कर प्रॉपर्टी करेगा मदद

डिजिटल डेस्क, जबलपुर। किसी के लिए भी प्रॉपर्टी खरीदना जीवन के महत्वपूर्ण कामों में से एक होता है। आप सारी जमा पूंजी और कर्ज लेकर अपने सपनों के घर को खरीदते हैं। इसलिए यह जरूरी है कि इसमें इतनी ही सावधानी बरती जाय जिससे कि आपकी मेहनत की कमाई को कोई चट ना कर सके। प्रॉपर्टी की कोई भी डील करने से पहले पूरा रिसर्च वर्क होना चाहिए। हर कागजात को सावधानी से चेक करने के बाद ही डील पर आगे बढ़ना चाहिए। हालांकि कई बार हमें मालूम नहीं होता कि सही और सटीक जानकारी कहा से मिलेगी। इसमें bhaskarproperty.com आपकी मदद कर सकता  है। 

जानिए भास्कर प्रॉपर्टी के बारे में:
भास्कर प्रॉपर्टी ऑनलाइन रियल एस्टेट स्पेस में तेजी से आगे बढ़ने वाली कंपनी हैं, जो आपके सपनों के घर की तलाश को आसान बनाती है। एक बेहतर अनुभव देने और आपको फर्जी लिस्टिंग और अंतहीन साइट विजिट से मुक्त कराने के मकसद से ही इस प्लेटफॉर्म को डेवलप किया गया है। हमारी बेहतरीन टीम की रिसर्च और मेहनत से हमने कई सारे प्रॉपर्टी से जुड़े रिकॉर्ड को इकट्ठा किया है। आपकी सुविधाओं को ध्यान में रखकर बनाए गए इस प्लेटफॉर्म से आपके समय की भी बचत होगी। यहां आपको सभी रेंज की प्रॉपर्टी लिस्टिंग मिलेगी, खास तौर पर जबलपुर की प्रॉपर्टीज से जुड़ी लिस्टिंग्स। ऐसे में अगर आप जबलपुर में प्रॉपर्टी खरीदने का प्लान बना रहे हैं और सही और सटीक जानकारी चाहते हैं तो भास्कर प्रॉपर्टी की वेबसाइट पर विजिट कर सकते हैं।

ध्यान रखें की प्रॉपर्टी RERA अप्रूव्ड हो 
कोई भी प्रॉपर्टी खरीदने से पहले इस बात का ध्यान रखे कि वो भारतीय रियल एस्टेट इंडस्ट्री के रेगुलेटर RERA से अप्रूव्ड हो। रियल एस्टेट रेगुलेशन एंड डेवेलपमेंट एक्ट, 2016 (RERA) को भारतीय संसद ने पास किया था। RERA का मकसद प्रॉपर्टी खरीदारों के हितों की रक्षा करना और रियल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ावा देना है। राज्य सभा ने RERA को 10 मार्च और लोकसभा ने 15 मार्च, 2016 को किया था। 1 मई, 2016 को यह लागू हो गया। 92 में से 59 सेक्शंस 1 मई, 2016 और बाकी 1 मई, 2017 को अस्तित्व में आए। 6 महीने के भीतर केंद्र व राज्य सरकारों को अपने नियमों को केंद्रीय कानून के तहत नोटिफाई करना था।