दैनिक भास्कर हिंदी: वर्ल्ड की छठी सबसे बड़ी इकोनॉमी बना भारत, फ्रांस को पीछे छोड़ा

July 11th, 2018

हाईलाइट

  • भारत बना वर्ल्ड की छठी सबसे बड़ी इकोनॉमी।
  • 2017 की GDP के आधार पर वर्ल्ड बैंक ने जारी की रिपोर्ट।
  • 2017 में 2.597 खरब डॉलर रही है भारत की GDP।

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। फ्रांस को पीछे छोड़ते हुए भारत वर्ल्ड की छठी सबसे बड़ी इकोनॉमी बन गया है। भारत इससे पहले सातवीं और फ्रांस छठी पोजीशन पर था। वर्ल्ड बैंक ने बुधवार (11 जुलाई) को यह रिपोर्ट पेश की है। वर्ल्ड बैंक ने यह रैंकिंग सभी देशों के 2017 के ग्रॉस डोमेस्टिक प्रोडक्ट (GDP) के आधार पर दी है।

इस रिपोर्ट में यूनाइटेड स्टेट्स करीब 19.390 खरब डॉलर GDP के साथ विश्व की सबसे बड़ी इकोनॉमी है। वहीं चीन 12.237 खरब डॉलर GDP के साथ दूसरे स्थान पर है। चीन के बाद इसमें जापान, जर्मनी और ब्रिटेन की इकोनॉमी आती हैं। छठे स्थान पर भारत है, जिसकी GDP 2017 में 2.597 खरब डॉलर रही है। वहीं सातवें नम्बर पर काबिज फ्रांस की GDP 2.582 खरब डॉलर रही है। हालांकि पर कैपिटा इनकम (PCI) GDP की बात करें तो इस मामले में भारत फ्रांस से अभी भी पीछे है। फ्रांस की पर कैपिटा GDP भारत से 20 गुना ज्यादा है।

इससे पहले वर्ल्डबैंक ने एक रिपोर्ट में कहा था कि डिमोनेटाइजेशन और GST की वजह से 2017 के पहले कुछ महीनों तक भारतीय इकोनॉमी में गिरावट दर्ज की गई थी। लेकिन भारत सरकार की तरफ से शुरु किए गए कुछ बेनीफिशियल रिफॉर्म्स की वजह से भारत इससे उबर गया और इकोनॉमी वापस पटरी पर लौट आई। वर्ल्ड बैंक ने इस रिपोर्ट में 2018 में भारत का ग्रोथ रेट बढ़कर 7.3 प्रतिशत होने की बात कही थी। वहीं इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड (IMF) ने भी 2018 के लिए भारत का ग्रोथ रेट 7.4 प्रतिशत होने की बात कही थी। IMF ने उम्मीद की है कि आने वाले साल में भारत वर्ल्ड की फास्टेस्ट ग्रोइंग इकोनॉमी बन सकती है। इंटरनेशनल फाइनेंशियल ऑर्गेनाइजेशन ने 2019 में भारत की ग्रोथ रेट 7.8 प्रतिशत होने की उम्मीद की है।

गौरतलब है कि GDP किसी भी देश की आर्थिक हालत को बताती है। GDP एक लिमिटेड पीरियड के दौरान देश के अंदर होने वाली गुड्स एंड सर्विसेज के मैन्यूफैक्चरिंग की कुल कीमत है। भारत समेत लगभग सभी देशों में यह हर तीन महीने पर कैलकुलेट की जाती है। भारत में एग्रीकल्चर, इंडस्ट्रीज और सर्विसेज़ वह तीन प्रमुख सेक्टर हैं जिनके प्रोडक्शन बढ़ने या घटने से जीडीपी पर असर पड़ता है। GDP देश की इकनॉमिक एडवांसमेंट की जानकारी देता है।