दैनिक भास्कर हिंदी: तेल कंपनियों को सरकार का निर्देश, कहा- अब ना बढ़ाएं पेट्रोल-डीजल के दाम

April 12th, 2018

डिजिटल डेस्क, नई दिल्ली। देश में लगातार आसमान छू रही मंहगाई और बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दाम को लेकर केंद्र सरकार ने चिंता जताई है। साथ ही सरकार ने सरकारी तेल कंपनियों को भी निर्देश देते हुए कहा है कि वे अब पेट्रोल और डीजल की खुदरा कीमतों को न बढ़ाएं। सूत्रों के हवाले से खबर मिली है कि तेल कंपनियों से यह भी कहा गया है कि हो सकता है तेल कंपनियों को भविष्य में कुछ नुकसान भी उठाना पड़े, मगर वे इस नुकसान को उठाने के लिए तैयार रहें। बता दें कि ग्लोबल क्रूड ऑइल की कीमतों में हाल के समय में इजाफा हो रहा है। यही कारण अनुमान लगाया जा रहा है कि इससे तेल कंपनियों को नुकसान हो सकता है।

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में बताया गया है आने वाले कुछ समय में डीजल और पेट्रोल की बिक्री में प्रति लीटर 1 रुपये का नुकसान होगा। यह नुकसान भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन, इंडियन ऑइल कॉर्पोरेशन और हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन को उठाना होगा। कारण है कि हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के शेयरों में भी 8.3 प्रतिशत की गिरावट देखी गई। जबकि इंडियल ऑइन के शेयर मंगलवार को 7.6 प्रतिशत तक गिरे थे। यह नवंबर 2016 के बाद एक दिन के कारोबार में सबसे बड़ी गिरावट है।

इस मामले में राजनीतिज्ञ जानकार बताते हैं कि इस साल 2018 में कई बड़े राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं। इन्हीं चुनावों को देखते हुए मोदी सरकार कोई रिस्क नहीं लेना चाहती है और पेट्रोल-डीजल की कीमतों को काबू में रखना चाहती है। क्रूड ऑइल की सालाना जरूरतों का 80 प्रतिशत आयात करने वाला भारत चाहता है कि क्रूड की कीमत 50 डॉलर प्रति बैरल के आसपास रहे, ताकि अर्थव्यवस्था बेहतर हो सके।

मामले में हिंदुस्तान पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड का कहना है कि पेट्रोल-डीजल की कीमतों को नहीं बढ़ाने से जुड़े सरकार के किसी निर्देश की उसे जानकारी नहीं है। नई दिल्ली में इंटरनैशनल एनर्जी फोरम की बैठक से इतर HPCL के चेयरमैन एम. के. सुराना ने यह बात कही।