मार्केटप्लेस: ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर अच्छा बिजनेस कर रहे ओडीओपी प्रोडक्ट

November 1st, 2021

हाईलाइट

  • ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म पर अच्छा बिजनेस कर रहे ओडीओपी प्रोडक्ट

डिजिटल डेस्क, लखनऊ। ई-कॉमर्स प्लेटफॉर्म फ्लिपकार्ट पर करीब 1,000 करोड़ रुपये मूल्य के लगभग 2 करोड़ एक जिला-एक प्रोडक्ट (ओडीओपी) आइटम बेचे गए हैं, जिससे उत्तर प्रदेश के लाखों छोटे कारीगरों और शिल्पकारों को फायदा हुआ है। कोविड -19 महामारी 2020-21 के दौरान मार्केटप्लेस बड़े पैमाने पर बंद रहे ई-कॉमर्स वेबसाइटों ने यह सुनिश्चित करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। बाजारों और उपभोक्ताओं के बीच एक लिंक बनाया है।

उत्तर प्रदेश के एमएसएमई मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि सरकार ने अंतर्राष्ट्रीय बाजार सहित ओडीओपी उत्पादों के लिए एक व्यापक मंच प्रदान करने के लिए ई-कॉमर्स वेबसाइटों के साथ एग्रीमेंट किया है, जिसके तहत काला नमक चावल जैसे उत्पादों को अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर बेचा जा रहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लोकल फॉर वोकल मंत्र के तहत, ई-कॉमर्स वेबसाइटें अत्यधिक फायदेमंद साबित हुई हैं, खासकर महामारी के दौरान जहां अधिक लोग ऑनलाइन मार्केटप्लेस में ट्रॅन्स्फर हुए है। 2018 में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के एक प्रमुख कार्यक्रम ओडीओपी योजना के तहत लाखों लोगों को इससे काफी फायदा हुआ है।

सरकार ने 2020 में फ्लिपकार्ट के साथ ओडीओपी उत्पादों को वेबसाइट पर बेचने के लिए एक समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर किए थे, पहले ई-कॉमर्स वेबसाइट अमेजॅन के साथ एग्रीमेंट किया था। ओडीओपी के तहत 20,000 से अधिक उत्पाद प्लेटफॉर्म पर बेचे जाते हैं।

ओडीओपी योजना 2018 में प्रत्येक जिले से एक विशेष उत्पाद की पहचान करने के उद्देश्य से शुरू की गई थी ताकि उद्योग को बढ़ावा देने और कारीगरों की मदद करने के लिए इसे बेहतर तरीके से प्रमोटेड, पैकेज्ड और मार्केटिंग किया जा सके। वर्तमान में कुछ जिले ऐसे हैं जहां लोकल फॉर वोकल को बढ़ावा दिया जा रहा है।

आईएएनएस