दैनिक भास्कर हिंदी: CBSE PAPER LEAK: हिमाचल प्रदेश से तीन लोगों को दिल्ली पुलिस ने किया गिरफ्तार

April 7th, 2018

डिजिटल डेस्क, शिमला। सेंट्रल बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (CBSE) के 12वीं इकोनॉमिक्स पेपर लीक मामले में शनिवार सुबह तीन लोगों को हिरासत में लिया गया है। ये गिरफ्तारी हिमाचल प्रदेश के ऊना से की गई है। गिरफ्तार लोगों में एक आरोपी अध्यापक है। वहीं एक क्लर्क और एक सपोर्ट स्टाफ है। पुलिस आरोपियों से पूछताछ कर रही है। जानकारी के मुताबिक, इन लोगों ने हाथ से लिखे पेपर को लीक किया था, जिसकी पड़ताल की जा रही है। 

हिमाचल के ऊना से गिरफ्तारी
दिल्ली पुलिस क्राइम ब्रांच के डेप्यूटी कमिश्नर ऑफ पुलिस डॉ. राम गोपाल नाइक ने बताया कि हिमाचल प्रदेश के ऊना जिले में डीएवी स्कूल के केंद्र अधीक्षक राकेश कुमार, क्लर्क अमित और स्कूल प्रिंसिपल अशोक शर्मा को अपराध शाखा ने गिरफ्तार किया है। अधिकारी ने बताया कि तीनों आरोपियों को ऊना से दिल्ली लाया गया है। माना जा रहा है कि तीनों से पूछताछ में महत्वपूर्ण जानकारी सामने आ सकती है, जो जांच को अंजाम तक पहुंचाएगी। अब तक हुई पूछताछ में सामने आया है कि दो दिन पहले इन लोगों के हाथ इकोनॉमिक्स का पेपर लग गया था। इस लोगों ने इसे हाथों से एक पेपर पर लिख लिया, जिसके बाद इसे सभी को बाट दिया गया। बता दें कि सीबीएसई ने पेपर लीक मामले में इकोनॉमिक्स के पेपर की नई तारीख का ऐलान कर दिया है। 12वीं के अर्थशास्त्र विषय की परीक्षा 25 अप्रैल को आयोजित की जाएगी।

तौकीर ने किया था वाट्सएप पेपर वायरल
गौरतलब है कि पेपर लीक मामले में पुलिस ने दिल्ली के स्कूल के दो शिक्षक रोहित (26) और ऋषभ (29) के अलावा कोचिंग सेंटर के एक ट्यूटर तौकीर (26) को गिरफ्तार किया था। दोनों शिक्षकों ने इकोनॉमिक्स का पेपर शुरू होने से करीब 30 मिनट पहले 09.15 am पर पर्चे को खोल दिया था। जबकि पेपर को 09:45 am पर खोला जाना था। इसके बाद उसकी तस्वीर तौकीर को भेज दी गई थी। तौकीर ने यह तस्वीर अपने स्टूडेंट्स के आगे वॉट्सऐप ग्रुप में भेज दी। इस तरह से इकोनॉमिक्स का पर्चा लीक किया गया।

12वीं इकोनॉमिक्स परीक्षा की तारीख का ऐलान
सोशल मीडिया पर CBSE 10th मैथ्स और 12th इकोनॉमिक्स के पेपर लीक होने की खबरों के बाद दोनों को रद्द कर दिया गया था। जिसके बाद 12वीं इकोनॉमिक्स की परीक्षा की तारीख का ऐलान कर दिया गया। ये परीक्षा देश भर में 25 अप्रैल को होगी। वहीं 10वीं कक्षा के मैथ्स की परीक्षा को CBSE ने दोबारा नहीं कराने का फैसला लिया है।