• Dainik Bhaskar Hindi
  • City
  • Buried in the flour - the bomb was wrapped in the flour, the lower part of the jaw was injured by eating piggery bomb

दैनिक भास्कर हिंदी: सुअरमार बम खाने से फटागाय का मुँह - आटे में लपेट कर रखा था बम, जबड़े का निचला हिस्सा जख्मी

June 22nd, 2020

डिजिटल डेस्क जबलपुर । केरल में गर्भवती हथिनी को अनानास में बम रखकर मार डालने की घटना ने इस तरह से देश को झकझोरा कि बे- रहमों की आत्मा भी दहल गई। जीसीएफ स्टेट में पाट बाबा पहाड़ी के समीप हुई ठीक वैसी ही वारदात ने रोंगटे खड़े कर दिए हैं। यहाँ गाय को शिकार बनाया गया। हालाँकि मकसद गाय से नहीं जुड़ा रहा होगा लेकिन किसी सिरफिरे की करतूत ठीक वैसी रही और बेजुबान पशु की वेदना भी वैसी ही।  जिस इंसानियत की उम्मीद से हथिनी आकर्षित हुई थी वैसे ही गाय भी गुंथे हुए आटे की तरफ बढ़ी। किसी दरिंदे की हरकतों की वजह से गाय का भी वही अंजाम हुआ। बम फटा.. निचले जबड़े के चिथड़े उड़ गए। गाय झटपटाने लगी।
यह बम किसने रखा था अभी उसका खुलासा तो नहीं हुआ है लेकिन यह माना जा रहा है कि आटे में लपेटकर बम रखा गया था, जिसे खाते ही विस्फोट हुआ और गाय वहीं पर गिर गई और खून की धार बह निकली। दोपहर करीब साढ़े तीन बजे हुए इस हादसे के बाद गौ सेवकों को जानकारी दी गई तो वे प्राथमिक उपचार करने के लिए वहाँ पहुँचे। गाय की हालत काफी गंभीर बताई जा रही है। इस संबंध में गौ सेवक प्रशांत कुमार एवं सुधीर शर्मा ने जानकारी दी है कि उन्हें क्षेत्रीय लोगों ने सूचना दी थी कि एक गाय घायल अवस्था में पड़ी हुई है और उसका मुँह बम खाने से फट गया है। जब उन्होंने जाकर देखा तो जमीन पर खून बिखरा था और गाय दर्द से बुरी तरह कराह रही थी। उसके मुँह से खून साफ कर दवा लगाने के बाद उसे अस्पताल भिजवा दिया गया है। इससे पहले भी सेन्ट्रल स्कूल के पीछे की तरफ के क्षेत्र  में भी एक गाय का मुँह, आटे में लपेट कर रखा गया बम खाने के कारण फट गया था। उस समय भी पुलिस में शिकायत की गई थी लेकिन  बम रखने वालों का पता नहीं चला था।

खबरें और भी हैं...