- नदी के तेज बहाव में बहा बैल, ग्रामीणों ने बचाया, दूधी नदी बाढ़ से सिंगोड़ी मार्ग बंद: छिंदवाड़ा: उफनाती नदी में बही बाइक, चालक की बची जान

July 6th, 2022


छिंदवाड़ा/ झिरपा. बारिश के कारण जनजीवन प्रभावित हो रहा है वहीं दूसरी ओर उफनाती नदी या पुल को जान जोखिम में डालकर पार किया जा रहा है। ऐसा ही कुछ तामिया के बम्हनी सिंगोड़ी के पास दूधी नदी में दो अलग-अलग घटनाएं हुए जहां पर एक बाइक सवार के उफनाती नदी पार करने के दौरान अनियंत्रित हो गया जहां उसकी जान तो बच गई लेकिन बाईक बहाव में बह गई। इसी प्रकार एक बैल तेज बहाव में बह गया जिसे ग्रामीणों ने जैसे-तैसे बचाया।
तामिया का बम्हनी सिंगोड़ी मार्ग बंद, 25 गांवों से संपर्क टूटा
ब्लाक तामिया के सीमावर्ती क्षेत्र अंतर्गत बम्हनी- सिंगोड़ी मार्ग पर बाढ़ से दूधी नदी का पुल डूबा रहा। जिससे इसे मार्ग पर लोगों का आवागमन बंद रहा।  दूधी नदी में बाढ़ से बम्हनी- सिंगोड़ी मार्ग मंगलवार को सुबह 6 से दोपहर एक बजे तक बाढ़ से रास्ता बंद रहने पर 25 गांव का सडक़ सम्पर्क टूटा रहा। सुबह लगभग 9.30 बजे एक बैल बहकर आया,  जिसे ग्रामीणों ने पुल के समीप पानी से बाहर निकाला। इसी तरह बम्हनी निवासी 45 वर्षीय संतोष यादव सोमवार रात में अपने रिश्तेदार के घर सिंगोड़ी गए थे, जो मंगलवार सुबह 10 बजे वापस घर लौट रहा था। पुल के ऊपर बहते पानी की गति को नजर अंदाज कर बाईक लेकर रास्ता पार करने का प्रयास किया, जिससे उनका वाहन अनियंत्रित होकर बह गया, जिसकी शाम तक तलाश होती रही। ग्रामीणों के अनुसार उच्च स्तरीय पुल निर्माण कार्य प्रस्तावित है, जिसकी दो साल से ड्राईंग स्वीकृत नहीं हुई। बाढ़ के दौरान पुल पार करने से रोकने यहां कोई इंतजाम नहीं रहता है।
बारिश के ऐसे रहे हाल
जिले में लगभग सभी स्थानों में बारिश होती रही। यहां पर पहले बूंदा-बांदी तो बाद में तेज बारिश होती रही। हालंाकि यह अच्छी बात रही की यहां पर अन्य किसी भी मुख्य मार्ग के बंद होने की खबर नहीं है।
जिले में 266.1 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज
जिले में अभी तक 266.1 मिमी.औसत वर्षा दर्ज की गई है, जबकि गत वर्ष इस अवधि तक 276.2 मिमी.औसत वर्षा दर्ज की गई थी। जिले में 6 जुलाई को सुबह 8 बजे समाप्त 24 घंटों के दौरान 8.9 मि.मी.औसत वर्षा दर्ज की गई है। अधीक्षक भू-अभिलेख श्रीमती स्मृति खंडेलवाल ने बताया कि 6 जुलाई को सुबह 8 बजे समाप्त 24 घंटो के दौरान यह वर्षा का आंकड़ा दर्ज किया गया है। जिले में एक जून से अभी तक तहसील छिन्दवाड़ा में 355.2, मोहखेड़ में 298.5, तामिया में 284, अमरवाड़ा में 232, चौरई में 141.2, हर्रई में 318.8, सौंसर में 427.7, पांढुर्णा में 283.3, बिछुआ में 168.2, परासिया में 223.5, जुन्नारदेव में 279.6, चांद में 216.5 और उमरेठ में 228 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई है।