दैनिक भास्कर हिंदी: संविलियन का तोहफा लेकर लौटे शिक्षक की ट्रेन के नीचे आने से मौत

January 23rd, 2018

डिजिटल डेस्क जबलपुर । भोपाल में आंदोलन कर रहे शिक्षकों का दल जब संविलियन की खुशखबरी लेकर मदन महल स्टेशन पर उतरा तो उनका एक साथी नींद के झोंके में ट्रेन के नीचे आकर कट गया। इस हादसे से शिक्षकों की खुशी मातम में बदल गई। बताया जाता है कि उसे गंभीर हालत में मेडिकल अस्पताल ले जाया गया, जहां डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया। यह हादसा इतना अचानक हुआ कि देवेन्द्र बिसेन को संभलने का मौका ही नहीं मिला और ट्रेन चलने के कारण उसका एक पैर कट गया। 30 साल के देवेन्द्र के साथ हुए हादसे से दुखी  शिक्षकों ने स्वागत के लिए आए लोगों को लौटा दिया।  देवेन्द्र बिसेन जो कि कटंगी प्राथमिक शाला के जन शिक्षा केन्द्र बोरिया में पदस्थ था भोपाल में शिक्षकों के आंदोलन में शामिल होने गया था। ओवरनाइट एक्सप्रेस से जब वह सुबह करीब साढ़े 7 बजे मदन महल स्टेशन पर पहुंचा तो वह नींद में था और उसके साथियों ने जगाकर उतरने को कहा। दरवाजे पर भीड़ होने के कारण जब वह जल्द बाजी में उतरा तभी वह फिसलकर ट्रेन के नीचे आ गया तथा ट्रेन चल पड़ी। उसके साथियों ने ट्रेन निकलने के बाद उसे उठाकर एम्बुलेंस में मेडिकल अस्पताल भिजवाया। इसी बीच उसके भाई को भी खबर की गई तो वह भी मदन महल पहुंच गया। जीआरपी ने इस मामले में मर्ग कायम करने के बाद जांच शुरू कर दी है।
मां से व्यक्त की थी खुशी - इस मामले में शिक्षकों ने जानकारी दी है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शिक्षकों के संविलियन को मंजूरी देने की घोषणा के बाद उन्होंने भोपाल में अपना आंदोलन स्थगित कर दिया था। वे सब जश्न मनाने की बात कहते हुए अपनी सफलता से खुश थे। देवेन्द्र बिसेन ने कल रात अपनी मां को अपने आंदोलन की सफलता एवं खुशी से अवगत कराया था। यही नहीं स्कूल में भी उसके स्वागत की तैयारी कर ली गई थी। जैसे ही देवेन्द्र की मौत की सूचना मिली तो सभी जगह शोक की लहर दौड़ गई। इस तरह संविलियन का तोहफा लेकर लौट रहे  शिक्षक की ट्रेन से  कटकर मौत हो जाने से साथियों की खुशी मातम में बदल गई और भोपाल में किये आंदोलन का ऐंसा दुखद अंत हुआ ।